MP TET VARG-3 TOPIC - व्यक्तित्व का मापन, Measurement of Personality

व्यक्तित्व मापन एक बड़ी ही प्राचीन समस्या है समय-समय पर व्यक्तित्व मापन की विभिन्न विधियां विकसित की जाती रही हैं। एक व्यक्ति के व्यक्तित्व को हम लंबाई, चौड़ाई ऊँचाई में तो नहीं माप सकते क्योंकि यह स्थिर नहीं है बल्कि गतिशील है। विभिन्न परिस्थितियों के अनुसार व्यक्तित्व बदलता रहता है इसलिए व्यक्तित्व का मापन विभिन्न परिस्थितियों में किया जाना चाहिए।

व्यक्तित्व मापन का संबंध मन की तीन अवस्थाओं से भी है। मन की तीन अवस्थाएं चेतन (Consious), अवचेतन (Subconsious) और अचेतन (Unconsious) भी हमारे व्यक्तित्व पर गहरा प्रभाव डालती हैं। चेतन मन पूरी तरह से हमारी जागरूकता से संबंधित होता है। जबकि अवचेतन मन में आधी अधूरी बातें चलती रहती हैं। जबकि अचेतन मन के कारण ही हमारी पर्सनैलिटी ड्राइव होती है। इसके अंतर्गत हमारी दमित इच्छाएं होती हैं और यह पूरी तरह से इद(id) के बस में होता है।

व्यक्तित्व मापन के लिए मुख्य रूप से दो प्रकार की विधियां काम में लाई जाती हैं -
1) प्रक्षेपी विधि (Projective Method)
2) अप्रक्षेपी विधि (Non- projective Method)
 

प्रक्षेपी विधियाँ (Projective Methods)

प्रक्षेपी विधियों के अंतर्गत विधियां आती हैं जो कि अचेतन मन में दबी इच्छाओं का पता लगाते हैं. मनोविश्लेषणवादी (Psychaitrics) इन्हीं विधियों पर काम करते हैं। यह विधियां व्यक्तिगत और सामूहिक दोनों रूप से ही उपयोगी होती हैं इन्हें चित्रों के माध्यम से विभिन्न cards दिखाकर व्यक्तित्व का परीक्षण किया जाता है। इन विधियों में मुख्य रूप से रोशा स्याही धब्बा परीक्षण विधि, बाल अंतर बोध परीक्षण विधि, थीमेट्रिक परसेप्शन विधि आदि प्रमुख हैं।

अप्रक्षेपी विधि (Non- projective Methods)

अप्रक्षेपी विधियों में मुख्य रूप से वस्तुनिष्ठ व व्यक्तिनिष्ठ विधियाँ आती हैं। वस्तुनिष्ठ विधियों मुख्य रूप से व्यक्ति के बाहरी व्यवहार पर आधारित होती हैं और इनसे व्यक्तिगत गुणों का निर्धारण किया जाता है। जबकि व्यक्तिनिष्ठ विधियों में व्यक्ति स्वयं ही अपने बारे में सूचना देता है जो की पूरी तरह सच नहीं होती। व्यक्तिगत विधि के अंतर्गत प्रश्नावली विधि व साक्षात्कार विधि प्रमुख है। व्यक्ति निश्ड विधि द्वारा व्यक्ति के आंतरिक व्यवहार का पता लगाया जाता है जबकि साक्षात्कार विधि द्वारा व्यक्ति के बाहरी व्यवहार का और विभिन्न परिस्थितियों में व्यवहार का पता लगाया जाता है।
मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के इंपोर्टेंट नोट्स के लिए कृपया mp tet varg 3 notes in hindi पर क्लिक करें.