CM Sir, MPPSC-2021 परीक्षा में आयु की गणना संशोधित करवा दीजिए- Khula Khat

महोदय
, मैं एक बेरोजगार अभ्यर्थी हूँ। श्रीमान मैं पिछले एक डेढ़ साल से बेरोजगार हूँ। मै पहले एक प्राइवेट स्कूल मे शिक्षक के रूप मे नौकरी करता था मगर पिछले वर्ष March 2020 मे कोरोना वायरस कि लहर मे जब समस्त देश मे स्कूल बंद हो गए तो मुझे स्कूल मे फीस ना आने कि वजह से नौकरी से हटा दिया गया। श्रीमान मैं अब 39 वर्ष कि उम्र मे अपने जीवन यापन के लिए कहां जाता ? 

क्योंकि मैं एक शिक्षक हूँ और शिक्षा से जुड़ा हुआ था तो मेरे लिए सबसे आसान सरकारी भर्ती रोजगार पाने का सबसे जल्दी ओर सबसे सही माध्यम था। इसके अलावा MPPSC के द्वारा निकाले गए कैलंडर मे वर्ष 2021 मे एक सामान्य ग्रैजूएट के लिए प्रशासन की 2 सरकारी भर्तियाँ प्रस्तावित थी। 

श्रीमान MPPSC की पहली परीक्षा कोरोना वायरस की वजह से 2 बार कैन्सल होकर 25 जुलाई को आयोजित हुई। जबकि दूसरी भर्ती परीक्षा जिसका विज्ञापन जून 2021 मे आना था और परीक्षा अगस्त मे आयोजित होनी थी, वह आयोग के द्वारा सही समय पर जारी नहीं किया गया। वह विज्ञापन कल दिनांक 22 दिसम्बर 2021 को जारी किया गया एवं उसमे आयु सीमा 01 जनवरी 2021 कि जगह 01 जनवरी 2022 कर दी गई। जिसकी वजह से मैं बेरोजगार अभ्यर्थी जो पिछले ढेड साल से तैयारी कर रहा था, बाहर हो गया। 

महोदय, मेरा आपसे विनम्र अनुरोध है कि MPPSC के द्वारा कल दिनांक 22 दिसम्बर को जारी किए गए विज्ञापन मे आयु सीमा कि गणना 01 जनवरी 2022 की जगह 01 जनवरी 2021 से कि जावे। 
 
श्रीमान आयु सीमा को लेकर एक विचारणीय प्रश्न है कृपया आप इस पर जरूर विचार करें। 
(1). श्रीमान पिछले 1 साल कि सभी परीक्षाओं मे समस्त राज्यों उत्तराखंड, हरियाणा, राजस्थान, झारखंड मे अभ्यर्थीयों कि आयु सीमा मे 2 वर्ष कि छूट दी गई एवं आयुसीमा बढ़ाकर 42 वर्ष कर दी गई जबकि मध्य प्रदेश मे सरकार के द्वारा कोई छूट नहीं दी गई। 
(2). श्रीमान मध्यप्रदेश शासन मे शासकीय कर्मचारी कि रिटायरमेंट कि उम्र 62 वर्ष है जबकि सीधी भर्ती से सिलेक्ट होने अभ्यर्थीयों को 42 वर्ष कि उम्र तक भी परीक्षा देने के लिए पात्र नहीं माना जा रहा है। 
(3). श्रीमान चुनाव लड़ने के लिए कोई आयुसीमा नहीं है जिसमे अशिक्षित, बीमार, अपराध के संदेह मे कोर्ट मे केस चल रहे व्यक्ति, शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्ति भी किसी भी उम्र में चुनाव लड़कर संवैधानिक पदों पर बैठते है जबकि MPPSC के द्वारा चयनित अभ्यर्थी शिक्षित, योग्य, बेदाग होते है। अतः उनकी भी आयु सीमा बढ़ाकर 42 वर्ष कर दी जाए। 

अंत में श्रीमान से निवेदन है कि मैं बेरोजगार अभ्यर्थी आपसे कोई भी आर्थिक पैकेज या सहायता नहीं मांग रहा हूँ। मै आपसे केवल MPPSC के द्वारा 22 दिसम्बर 2021 को जारी विज्ञापन मे आयुसीमा कि गणना 01 जनवरी 2021 से करने के लिए निवेदन कर रहा हूँ। श्रीमान कृपया हम शिक्षित बेरोजगारों कि मांग लागू करने कि कृपा करवाए। धन्यवाद, सौरभ प्रताप, शिक्षित बेरोजगार अभ्यर्थीगण

इससे पूर्व प्रकाशित हुए खुले खत पढ़ने के लिए कृपया Khula Khat पर क्लिक करें. खुला खत एक ओपन प्लेटफार्म है। यहां मध्य प्रदेश के सभी जागरूक नागरिक सरकारी नीतियों की समीक्षा करते हैं। सुझाव देते हैं एवं समस्याओं की जानकारी देते हैं। यदि आपके पास भी है कुछ ऐसा जो मध्य प्रदेश के हित में हो, तो कृपया लिख भेजिए हमारा ई-पता है:- editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here