ऐसा भी होता है- दोनों डोज के बाद 5000 लोग फिर वैक्सीनेशन की लाइन में लग गए- MP NEWS

भोपाल
। मध्यप्रदेश में प्रशासनिक तंत्र और पब्लिक कई बार खो-खो खेलते हुए दिखाई देती है। रतलाम में 5000 हायर एजुकेटेड लोगों ने प्रशासन को खो कर दिया। अब प्रशासन चकरघिन्नी हो रहा है। 

दरअसल इन सबको कोरोनावायरस वाली वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं। फिर भी पिछले 10 दिनों में 5000 लोगों ने वैक्सीन का पहला डोज लगवा लिया। नतीजा यह हुआ कि रतलाम शहर में वैक्सीनेशन 107% हो गया। अब प्रशासन परेशान है कि 107% वैक्सीनेशन को कैसे जस्टिफाई करेंगे। लोग तो इसे वैक्सीनेशन घोटाला ही कहेंगे। आरोप तो लगेगा ही कि रतलाम के स्वास्थ्य विभाग ने कोरोनावायरस की वैक्सीन को पड़ोसी राज्य में बेच दिया है।

रतलाम शहर में कोरोनावायरस वैक्सीन का पहला डोज लगाना बंद कर दिया गया है। अब प्रशासनिक अधिकारियों पर प्रेशर बनाया जा रहा है। संबंधों की दुहाई और रिश्वत ऑफर की जा रही है। इन 5000 लोगों में लगभग सभी उच्च शिक्षित हैं। कुछ तो चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े हुए लोग हैं। इन्हीं लोगों ने बूस्टर डोज के नाम पर कोरोनावायरस वैक्सीन का पहला डोज फिर से लगवा लिया और इनकी देखा-देखी शहर में माहौल बन गया। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP NEWS पर क्लिक करें.