SSC EXAM परीक्षार्थियों के बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन के नियम बदले

नई दिल्ली।
Staff Selection Commission ने परीक्षाओं में व्यापम घोटाले जैसी गड़बड़ियों को रोकने के लिए व्यवस्था में परिवर्तन किया है। अभी तक परीक्षा केंद्र में प्रवेश के समय अभ्यर्थियों का बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन होता था परंतु अब परीक्षार्थियों का एग्जिट वेरिफिकेशन भी होगा।

SSC ने परीक्षार्थियों के वेरिफिकेशन के नियम बदले 

कर्मचारी चयन आयोग ने महत्वपूर्ण सूचना क्रमांक F.No.01/06/2021/C-II के माध्यम से बताया है कि सभी परीक्षाओं में परीक्षार्थियों का परीक्षा केंद्र से निकासी के समय सत्यापन किए जाने का फैसला किया गया है। इसके कारण व्यवस्था में परिवर्तन होगा। परीक्षा केंद्र से बाहर निकलते समय बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन में परीक्षार्थी का फोटो और बाएं हाथ के अंगूठे का निशान (Photograph and Left Thumb Impression(LTI) etc.) संग्रहित किए जाएंगे। यह व्यवस्था सभी प्रकार की ऑनलाइन परीक्षाओं के लिए लागू रहेगी।

SSC EXAM EXIT verification के फायदे और नुकसान 

यह पता चल जाएगा कि जो उम्मीदवार परीक्षा देने के लिए अंदर गया था वही बाहर निकला है या नहीं। 
मध्य प्रदेश के व्यापम घोटाले जैसी गड़बड़ी नहीं होगी। उदाहरण: रमेश के एडमिट कार्ड पर अपना फोटो लगाकर दिनेश परीक्षा नहीं दे सकता।
परीक्षा केंद्र के अधिकारी और कर्मचारी गड़बड़ी नहीं कर पाएंगे। परीक्षा केंद्र के दरवाजे पर उम्मीदवार का बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन कराने के बाद उसकी जगह किसी और को प्रवेश नहीं दे पाएंगे। 
कुछ समय तक परीक्षा में गड़बड़ी रुकेगी। एक नया ताला बना है। चोरों को तोड़ने में समय लगेगा।
इस प्रोसीजर का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि परीक्षा केंद्र में प्रवेश के समय जद्दोजहद करनी पड़ती थी आप निकासी के समय भी वही परेशानी उठानी पड़ेगी।
भारत की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया Hindi Samachar पर क्लिक करें


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here