भाजपा प्रभारी मुरलीधर राव का ब्राह्मण-बनिया के बारे में विवादित बयान और स्पष्टीकरण - MP NEWS

भोपाल
। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रभारी श्री पी मुरलीधर राव का ब्राह्मण एवं वैश्य वर्ग को लेकर दिए गए बयान पर जबरदस्त आपत्तियां एवं आक्रोश देखा जा रहा है। प्रेस से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि ब्राह्मण-बनिया पहले से ही हमारी जेब में है।

मुरलीधर राव ने भाजपा के ब्राह्मण नेताओं के साथ बैठ कर दिया विवादित बयान

उप चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की जीत और राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक के बाद भाजपा के प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। जब उनसे SC-ST को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ब्राह्मण-बनिया पहले से ही मेरी जेब में है। मुरलीधर राव ने जिस समय यह बयान दिया भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद विष्णु दत्त शर्मा और मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर उनके साथ मौजूद थे।

आपत्ति जताने वाले पत्रकार को खरी-खोटी सुना दी

मुरलीधर राव ने कहा कि बीजेपी एसटी वर्ग के लिए लड़ने वाली पार्टी है। आने वाले समय में एसटी-एससी और ओबीसी वर्ग पर ध्यान रखेगी। वहीं जनरल कटेगरी वाले पत्रकारों के सवाल राव ने कहा कि ब्राह्मण और बनिया मेरे जेब में है। मुरलीधर राव को पत्रकारों ने जब टोका, तो उन्होंने कहा कि आप हमारी पूरी सुन लीजिए। पत्रकार हैं, तो आप प्रश्न पूछिए। या फिर आप आकर पार्टी चलाइये। राव ने कहा कि मेरे पास कुछ खास वर्ग के लोग ज्यादा थे। हम धीरे-धीरे सबकी पार्टी बनाने के लिए काम कर रहे हैं।

2018 के चुनाव से पहले शिवराज सिंह ने 'माई का लाल' बयान दिया था 

उल्लेखनीय है कि 2018 के विधानसभा चुनाव के पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसी प्रकार का आपत्तिजनक बयान दिया था। हाई कोर्ट द्वारा सरकारी सेवाओं में प्रमोशन में आरक्षण को अवैध घोषित किए जाने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अजाक्स के सम्मेलन में बिना बुलाए पहुंचकर कहा कि 'कोई माई का लाल आरक्षण रोक नहीं सकता।' इस बयान के बाद मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हो गया था। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण राजनीतिक खबरों के लिए कृपया MP politics news पर क्लिक करें.
---

मुरलीधर राव ने स्पष्टीकरण जारी किया, माफी नहीं मांगी

जैसे ही मामले ने तूल पकड़ा मुरलीधर राव को अपनी गलती समझ में आ गई और उन्होंने रात होने से पहले ही स्पष्टीकरण जारी कर दिया। उन्होंने अपने बयान में कांग्रेसी पर पक्षपात का आरोप लगाया लेकिन ब्राह्मण मेरी जेब में और बनिया मेरी जेब में, बयान के लिए क्षमा नहीं मांगी।
 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here