GWALIOR NEWS- पंचायत ने सुनाई सजा-ए-मौत, कुल्हाड़ी से काटकर पत्थरों से कुचल डाला

ग्वालियर।
गिजोर्रा थाना इलाके के धरमपुरा गांव में पंचायत ने 3 अपराधियों का अपराध प्रत्यक्ष हो जाने के बाद उन्हें सजा-ए-मौत सुनाई। किसी भी प्रकार की अपील का मौका दिए बिना अपराधियों को घेर लिया गया और कुल्हाड़ी एवं पत्थरों से हमला कर दिया। एक अपराधी किसी तरह बचकर भाग गया। दो युवकों की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई।

पुलिस ने पंचायत भवन के पास से दोनों बदमाशों के शव लावारिस पड़े हुए बरामद किए। युवकों की लाशों के पास उनके द्वारा लाए गए अवैध बंदूक एवं देसी पिस्तौल भी मिले हैं।मृतकों की पहचान लाखन सिंह गड़रिया निवासी किटोरा और राजपाल बघेल निवासी दिनारा के रूप में हुई है। मरने वालों में लाखन सिंह गडरिया पुलिस रिकॉर्ड में फरार इनामी बदमाश था। पुलिस ने उसका पता बताने वाले को 10000 रुपए इनाम की घोषणा की थी। 

मामला क्या है, पंचायत क्यों बैठी थी

पुलिस ने बताया कि गांव के निवासी राजेन्द्र बघेल और चंद्रभान कुशवाह के परिवारों के बीच विवाद चल रहा है। राजेंद्र बघेल के परिवार की लड़की का चंद्रभान कुशवाहा के साथ अफेयर चल रहा है। 2 नवंबर को राजेंद्र बघेल के कहने पर इनामी बदमाश लाखन गडरिया अपने साथी राजपाल बघेल एवं गैंग के साथ गांव में आया और चंद्रभान कुशवाहा के साथ बेरहमी से मारपीट की। चंद्रभान कुशवाहा ने इस घटना की रिपोर्ट पुलिस थाने में दर्ज नहीं कराई बल्कि पंचायत में मामला उठाया।

पंचायत ने इस विवाद को सुलझाने के लिए 8 नवंबर 2021 सोमवार सुबह 11:00 बजे सभी पक्षों को चौपाल पर बुलाया। राजेंद्र बघेल और चंद्रभान कुशवाहा का परिवार पंचायत में मौजूद था तभी लाखन गडरिया, राजपाल बघेल, उसका बड़ा भाई गजेंद्र बघेल बाइक पर सवार होकर पंचायत स्थल पर पहुंच गए। आते ही उन्होंने हवाई फायरिंग शुरू कर दी। उन्होंने ऐलान किया कि इस पंचायत का फैसला हम करेंगे। 

अचानक फायरिंग से घबराकर सभी लोग यहां वहां भाग गए लेकिन थोड़ी देर बाद कुल्हाड़ी और दूसरे हथियार लेकर करीब 50 लोग वापस लौटे। तीनों को चारों तरफ से घेर लिया। भीड़ को देखते ही गजेंद्र बघेल भाग खड़ा हुआ। भीड़ ने लाखन और राजपाल को घेरकर हमला कर दिया।

लाखन बघेल के खिलाफ 23 मामले दर्ज हैं

मारे गए बदमाश लाखन गड़रिया पर लूट, हत्या के प्रयास, रेप, डकैत, अवैध वसूली के 23 मामले दर्ज हैं। उस पर पुलिस ने 10 हजार रुपए का इनाम घोषित कर रखा था। वह डबरा के किटोरा गांव का रहने वाला था, जबकि राजपाल दिनारा गांव का रहने वाला है। पुलिस राजपाल और गजेंद्र का भी आपराधिक रिकॉर्ड पता कर रही है। ग्वालियर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया GWALIOR NEWS पर क्लिक करें, अन्य विकल्पों के लिए कृपया स्क्रॉल करके पेज के सबसे नीचे पहुंचे।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here