Loading...    
   


महिला दिवस: मुख्यमंत्री बड़ी घोषणा करेंगे, पढ़िए महिलाएं क्या चाहती हैं - MP NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का चौथा कार्यकाल चल रहा है लेकिन इस बार भी वह कुछ इनोवेटिव कर रहे हैं। सरकारी कार्यक्रमों में कन्या पूजन, वृक्षारोपण के अलावा शिक्षा, रोजगार और स्वास्थ्य पर उन्होंने अपना पूरा फोकस बना दिया है। कहा जा रहा है कि 8 मार्च को महिला दिवस के दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोई बड़ी घोषणा करेंगे। इधर महिलाएं भी सोशल मीडिया के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक अपनी आवश्यकताओं की जानकारी भेज रही है।

8 मार्च 2021 महिला दिवस: ड्राइवर से लेकर सिक्योरिटी तक सब कुछ महिलाओं के हाथ में होगा

मंत्रालय सूत्रों ने बताया, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यह संदेश देना चाहते हैं कि महिलाएं किसी भी विधा में पुरुषों से पीछे नहीं हैं। यही वजह है कि महिला दिवस पर मुख्यमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी महिला पुलिसकर्मियों के हाथों में रहेगी। मोतीलाल नेहरू स्टेडिम में कार्यक्रम के दौरान भी महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती रहेगी। यहां मुख्यमंत्री महिलाओं के लिए बड़ी घोषणा कर सकते हैं।

मध्य प्रदेश की महिलाएं सरकारी नौकरी और रसोई गैस में टैक्स माफ चाहती हैं

15 अगस्त 2020 को मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि मध्यप्रदेश में सभी शासकीय कार्यक्रम बेटियों की पूजा से शुरू किए जाएंगे, जिससे बेटियों और महिलाओं का सम्मान का भाव सबके मन में जागे। अगले दिन ही शासन ने आदेश भी जारी कर दिया था। इस बार महिलाएं चाहती हैं कि उनके सम्मान के साथ सरकार उनके रोजगार की भी चिंता करें। बेरोजगार शिक्षित लड़कियां, बेरोजगार अशिक्षित लड़कियां, पति से विवाद के चलते अलग रह रही महिलाएं, विधवा महिलाएं एवं परित्यक्ता महिलाओं को रोजगार की सख्त जरूरत है। इसके अलावा घरेलू महिलाएं चाहती हैं कि सरकार से कोई करोड़ों की योजना नहीं चाहिए लेकिन रसोई गैस सिलेंडर में टैक्स माफ तो किया ही जा सकता है।

सरकारी उत्कृष्ट विद्यालयों में छात्राओं को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दी जाएगी

8 मार्च को महिला बाल विकास विभाग ने महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए सरकारी और उत्कृष्ट स्कूलों की कक्षा 9वीं से 12वीं तक की छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसका नाम अपराजिता रखा गया है। इस दाैरान प्रदेश के 311 विकासखंडों में 15 से 20 दिन यह ट्रेनिंग दी जाएगी। इसमें सेल्फ डिफेंस वाले खेल जूडो, कराटे और ताइक्वांडो की विशेष रूप से ट्रेनिंग दी जाएगी।

भोपाल में कमलनाथ सरकार ने शुरू की थी ‘पिंक पार्किंग’

इससे पहले तत्कालीन कमलनाथ सरकार ने 8 मार्च 2019 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर भोपाल में महिलाओं के लिए अलग से पार्किंग की शुरुआत की थी। शहर में तीन जगहों पर शुरू हुई इन पार्किंग्स को पिंक पार्किंग का नाम दिया गया था। भोपाल में 10 नंबर, एमपी नगर और न्यू मार्केट में इस सुविधा का शुभारंभ किया गया था।

6 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here