Loading...    
   


मध्य प्रदेश गृह विभाग के सचिव की कोरोना से मौत, 4 साल छतरपुर कलेक्टर रहे - MP NEWS

भोपाल
। नए साल में जबकि सभी लोग कोरोनावायरस के संक्रमण से मुक्ति की उम्मीद लगाए बैठे हैं, राजधानी भोपाल से बुरी खबर आ रही है। भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसर एवं गृह विभाग मंत्रालय में सचिव मसूद अख्तर की कोरोनावायरस संक्रमण के कारण मौत हो गई। डॉक्टरों का कहना है कि सुबह 8:00 बजे उन्हें हार्ट अटैक आया था। वेंटिलेटर पर ले जाने से पहले ही उनकी मृत्यु हो गई। श्री अख्तर पिछले 1 महीने से नेशनल हॉस्पिटल में भर्ती थे। उन्हें लंग्स इंफेक्शन भी हुआ था। तीन दिन पहले उन्हें कोरोना रिपोर्ट निगेटिव हो गई थी, लेकिन उसके असर से वह बच नहीं सके।

DAVV के छात्र थे, छतरपुर और सीधी में कलेक्टर रहे

उनके साथी रिटायर्ड आईएएस अधिकारी रमेश भंडारी ने बताया कि वह छतरपुर और सीधी के कलेक्टर रहे हैं। उनके नाम छतरपुर में लंबे समय (4 साल अधिक) तक कलेक्टर रहने का रिकॉर्ड है। उन्होंने इंदौर की अहिल्याबाई यूनिवर्सिटी से एलएलएम की पढ़ाई की थी। वह 1986 राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी थे। उनकी पत्नी अंजू दुबे अख्तर और एक 8 वर्षीय बेटा है।

मध्यप्रदेश में पहले आईएएस अफसर की कोरोनावायरस से मौत

मसूद अख्तर मध्य प्रदेश के पहले आईएएस अफसर हैं, जिनकी कोरोना से मौत हुई है। इससे पहले कोरोना से डॉक्टर्स, पुलिसकर्मी और हेल्थ वर्कर्स की मौतें हुई हैं। इधर, मध्य प्रदेश में लगातार कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि शुक्रवार सुबह उन्हें हार्टअटैक आया था। गुरुवार को मध्य प्रदेश में कोरोना के 844 नए मामले सामने आए थे। वहीं, भोपाल में 158 नए मामले मिले थे, जबकि 2 की मौत हो गई थी।

सोशल मीडिया पर दोस्त ने याद किया

उनके दोस्त आईएएस अफसर राजीव शर्मा ने अख्तर को श्रद्धांजलि देते हुए सोशल मीडिया पर लिखा- 'डॉ. मसूद अख्तर अब नहीं रहे। अभी थोड़ी देर पहले उन्होंने भोपाल के नेशनल अस्पताल अंतिम सांस ली। वे मेरे अग्रज, सच्चे मित्र और सहृदय मनुष्य थे। सफल अधिकारी तो थे ही. उनका जाना मुझे अकेला कर गया।'

01 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here