Loading...    
   


मध्यप्रदेश के 7910 शिक्षक दागी, दक्षता परीक्षा देनी होगी - MP EMPLOYEE NEWS

भोपाल।
मध्यप्रदेश के 7910 शिक्षकों के माथे पर दाग लग गया है। क्योंकि उनके ज्यादातर स्टूडेंट्स बोर्ड परीक्षाओं (10वीं हाई स्कूल एवं 12वीं हाई सेकेंडरी स्कूल) में फेल हो गए हैं। इनकी कक्षाओं का रिजल्ट 40% से कम आया है। मध्य प्रदेश शिक्षा विभाग की पॉलिसी है कि यदि किसी कक्षा के 40% से अधिक बच्चे पास नहीं हुए तो यह माना जाएगा कि शिक्षक को पढ़ाना नहीं आता। ऐसी स्थिति में उसे अयोग्य मानते हुए रिटायर कर दिया जाएगा। 

इस बार मिडिल स्कूल के 6299 और हाई व हायर सेकेंडरी के 1611 शिक्षकों के दक्षता का आंकलन होगा। इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय (डीपीआई) ने आदेश जारी कर दिए हैं। यह परीक्षा 27 व 28 दिसंबर को आयोजित की जाएगी। हाइ एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों के शिक्षकों की परीक्षा 27 दिसंबर को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक आयोजित होगी। वहीं माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों की परीक्षा 28 दिसंबर को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक होगी। सभी विषयों के शिक्षकों की परीक्षा होगी। 

पिछले साल भी स्कूल शिक्षा विभाग ने दसवीं बोर्ड परीक्षा में 30 फीसद से कम परीक्षा परिणाम लाने वाले स्कूलों के शिक्षकों की परीक्षा दो बार ली थी। दुबारा फेल होने पर प्रदेश के 16 शिक्षकों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई थी।

सबसे ज्यादा शिक्षक भिंड जिले के, दूसरे नंबर पर बैतूल और तीसरे पर अलीराजपुर

इस परीक्षा में भिंड के सबसे ज्यादा 505 शिक्षक शामिल होंगे। इसके बाद बैतूल के 231, अलिराजपुर के 182, अशोकनगर के 119 शिक्षक दक्षता मूल्यांकन में शामिल होंगे।

20 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

12वीं के बाद नाम बदला तो क्या बोर्ड की मार्कशीट में भी नाम बदल जाएगा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here