Loading...    
   


स्वर्ण आभूषण पैरों में क्यों नहीं पहनते, क्या स्मार्टफोन के अंदर गोल्ड होता है - GK IN HINDI

सदियों पहले भारतीय राजाओं के पास धन और स्वर्ण की कमी नहीं थी। इन दिनों करोड़पति कारोबारियों के पास धन की कोई कमी नहीं है। वह अपने स्टेटस के लिए कितना भी पैसा खर्च कर सकते हैं। उनकी महिलाएं काफी महंगे स्वर्ण आभूषण पहनती है। सवाल यह है कि सभी प्रकार के स्वर्ण आभूषण शरीर के ऊपरी भाग में क्यों पहने जाते हैं, पैरों में सोने से बने आभूषण (पायल आदि) क्यों नहीं पहने जाते। आइए इस सवाल का जवाब पता करते हैं:- 

सबसे पहले सोने का इंट्रोडक्शन

सोना यानी कि गोल्ड एक रासायनिक तत्व है जिसका Symbol, Au है जो कि लैटिन शब्द  Aurum से बना है। इसका परमाणु क्रमांक 79  है, यह आवर्त सारणी (periodic table)  के period- 6  का d- block का तत्व है, जो ग्रुप- 11 में आता है।  इसकी उत्पत्ति 6000 BCE से भी पहले हुई थी।

असली सोना कैसा होता है, आभूषण बनाने सोने में मिलावट क्यों करनी पड़ती है

यह एक हल्के पीले कलर की धातु है, जो ताप और विद्युत की सुचालक (conductor)है। यह मनुष्य द्वारा उपयोग किया जाने वाला पहला मेटल या धातु है और यह इतना ज्यादा मुलायम होता है कि हम इसे अपने दांतो से भी काट सकते हैं। इसी कारण इसके शुद्ध रूप से रूप से गहने नहीं बनाए जाते। उसे मजबूती प्रदान करने के लिए उसमें कुछ मिलावट करनी पड़ती है। शुद्ध सोना 24 कैरेट गोल्ड कहलाता है परंतु इससे गहने नहीं बनाए जा सकते इस कारण इसमें कुछ अशुद्धियां जैसे कॉपर, पीतल आदि मिलाकर गहने बनाए जाते हैं फिर उसे 18 कैरेट गोल्ड कहा जाता है।

1 ग्राम सोने से कितना लंबा तार बनाया जा सकता है

सोना एक most mallalable and ductile मेटल है अर्थात इसे खींच-खींच कर लंबे तार बनाए जा सकते हैं  mellalability) व पीट-पीटकर इसकी चादर बनाई जा सकती है।  (Ductility) यह  non toxic, non irritating  metal है। इसी गुण के कारण 1 ग्राम सोने से 3 km तक का लंबा तार बनाया जा सकता है। 

सोना मनुष्य की त्वचा पर क्या असर करता है

गोल्ड एक नोबल मेटल है इस कारण यह मनुष्य के शरीर के अंदर किसी भी प्रकार का रिएक्शन नहीं करता यह एक non-toxic and non irritating मेटल है, जिसे खाया भी जा सकता है।| खाने के अतिरिक्त यह सजावट के काम में भी आता है। यह केमिकली अक्रिय होता है और ह्यूमन बॉडी में किसी से भी को corroted नहीं होता है। 

स्वर्ण आभूषण, गहने चमकाने वाले किस एसिड का उपयोग करते हैं

यह किसी भी एसिड से रिएक्शन नहीं करता परंतु एक्वा रेजिया जिसे अम्लराज कहा जाता है जो कि एक भाग नाइट्रिक एसिड व तीन भाग हाइड्रोक्लोरिक अम्ल के मिश्रण से  बना है, उसमें यह घुल जाता है। गहने चमकाने वाले लोग अक्सर इसका उपयोग करते हैं जिसके कारण हमारे सोने के गहनों का वजन कम हो जाता है।

क्या कंप्यूटर और स्मार्टफोन में भी सोना होता है

आभूषणों के अतिरिक्त सोने का उपयोग कंप्यूटर, सेल फोन डेंटल वर्क, सर्किट, अप्लायंसेज आदि में भी किया जाता है क्योंकि यह विद्युत का सुचालक होता है।

क्या मनुष्य के स्वास्थ्य के लिए गोल्ड लाभदायक है

सोने का उपयोग हमारे स्वास्थ्य की दृष्टि से भी बहुत महत्वपूर्ण है। इससे ना सिर्फ हमें आर्थिक मदद प्राप्त होती है बल्कि यह हमारी Health को भी प्रभावित करता है। सोने के गहने पहनने से हमारा ब्लड सरकुलेशन इंप्रूव होता है। स्किन केयर में भी लाभदायक है। शरीर का तापमान नियंत्रित करता है। कई प्रकार की बीमारियों जैसे Rheumatoid अर्थराइटिस के इलाज में भी उपयोगी है। कई बीमारियां जब किसी भी दवाई से सही नहीं होती तो फिर उन्हें गोल्ड से ट्रीटमेंट दिया जाता है। इसमें एंटी कैंसर प्रॉपर्टीज भी उपस्थित होती हैं। 

सोने के गहने पैरों में क्यों नहीं पहने जाते

क्योंकि मनुष्य के शरीर में शुद्ध रक्त (Oxygenated) का संचार lungs से other body organs तक यानी ऊपर से नीचे की ओर होता है। जबकि अशुद्ध रक्त (Deoxygenated) का संचार body organs से lungs की तरफ यानी नीचे से ऊपर की तरफ होता है। इसी कारण सोने के आभूषण माथे, नाक, कान, गले, हाथ, कमर तक पहने जाते हैं क्योंकि इनको पहनने से भरपूर मात्रा में ऑक्सीजन सप्लाई होती रहती है। जबकि पैरों तक पहुंचते-पहुंचते ऑक्सीजन सप्लाई खत्म हो जाती है और फिर अशुद्ध रक्त वापस हमारे फेफड़ों तक पहुंचता है। जहां रक्त का शुद्धिकरण होता है और सोने के गहने पहनने से पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का संचार होता रहता है। कई बार गर्भवती महिलाओं को कमर पर सोने का कमरबंद पहनने की सलाह दी जाती है ताकि गर्भस्थ शिशु को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन प्राप्त होती रहे।

इसके अतिरिक्त सोने के आभूषणों की प्रकृति गर्म व चांदी की शीतल होती है, इस कारण सिर की ओर सोने के आभूषण व पैरों की ओर चांदी के आभूषण धारण किए जाते हैं। यही कारण है कि सोने के आभूषण पैरों में शोभायमान नहीं होते। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article (current affairs in hindi, gk question in hindi, current affairs 2019 in hindi, current affairs 2018 in hindi, today current affairs in hindi, general knowledge in hindi, gk ke question, gktoday in hindi, gk question answer in hindi,)


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here