Loading...    
   


पति की शादी गर्लफ्रेंड से कराने, पत्नी ने तलाक दिया, भरण पोषण भी नहीं लिया - BHOPAL NEWS

भोपाल
। एक धैर्यवान और स्वाभिमानी महिला ने अपने पति को इसलिए तलाक दे दिया क्योंकि वह अपनी गर्लफ्रेंड से शादी करना चाहता था। महिला ने तलाक के बदले भरण पोषण भी नहीं लिया। जिस धैर्य और स्वाभिमान के साथ महिला ने अपने पति के विवाहेत्तर संबंध का सामना किया, एक मिसाल बन गया। तलाक कराने वाली महिला एडवोकेट का कहना है कि ऐसी महिला मैंने अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखी। इधर तलाक प्राप्त करने के बाद भी पति शर्मसार है।

पत्नी और गर्लफ्रेंड दोनों के साथ रहना चाहता था

वकील सरिता राजानी ने बताया कि "करीब 15 दिन पहले परेशान और उलझन में पड़ा एक व्यक्ति दफ्तर आया। उसने अपनी समस्या बताई। कहा कि मेरे जीवन में एक गर्ल फ्रेंड है, उससे प्यार करता हूं और पत्नी से भी मुझे दिक्कत नहीं है। वह पूरी तरह से मेरे प्रति समर्पित हैं। तो क्या ऐसा संभव है कि मैं दोनों को एक साथ रख सकूं। तीन साल पहले दोनों की शादी हुई थी, जबकि पति 17 महीने से महिला मित्र के संपर्क में था।"

गर्लफ्रेंड जिद्दी है, वह दोनों के बीच तलाक चाहती है

वकील सरिता राजानी ने पहली बैठक में ही पति से स्पष्ट कर दिया था कि ऐसा न तो कानूनी और न ही सामाजिक रूप से संभव है। इसके बाद दूसरी बैठक में मैंने उनकी महिला मित्र से बात की। बातचीत के दौरान मुझे लगा कि गर्ल फ्रेंड काफी जिद्दी हैं। वह चाहती हैं कि उनका मित्र अपनी पत्नी को तलाक देकर उनसे शादी कर ले। इस दौरान पति ने मुझे बताया कि उसने अब तक अपनी पत्नी को ये बात संकोच की वजह से नहीं बताई। पति ने कहा कि अगर वह सुनेगी तो उसे बहुत दुख होगा।

पति के विवाहेत्तर संबंध पता चलने पर पत्नी ने क्या किया

वकील राजानी ने बताया कि मैंने तीसरी बैठक में पति और पत्नी दोनों को एक साथ बुलाया। इस दौरान पति और पत्नी दोनों से अलग-अलग बात की। तब तक पत्नी को गर्ल फ्रेंड के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। दूसरी महिला के संपर्क में होने की जानकारी हुई तो पत्नी रोने लगी। इसके बाद उन्होंने मुझसे कहा कि मुझे एक दिन का वक्त दीजिए, मैं आपको बताऊंगी।

1 दिन सोचने के बाद महिला ने अपने पति को तलाक दे दिया

वकील ने कहा कि मैंने अपने पूरे कैरियर में इतनी धैर्यवान महिला नहीं देखी, उसने दफ्तर से निकलने के बाद पति से कहा मुझे घर ले चलो। दूसरे दिन पति-पत्नी को फिर बुलाया गया। पत्नी ने अपने पति को तलाक देने पर सहमति दे दी। उसने कहा कि 'मैं आपके जीवन में एक अवांछित वस्तु बनकर नहीं रहना चाहती, अगर पति के जीवन में कोई दूसरी महिला है तो आप उसी के साथ रहिए। 

स्वाभिमानी महिला ने धोखेबाज पति से भरण पोषण भी नहीं मांगा

पति को इससे गिल्टी फील हो रही थी। पति ने अपनी पत्नी को ऑफर किया कि तुम मुझसे अलग होकर किसी दूसरे पर आश्रित ना रहो, इसलिए मैं तुम्हें अपना एक घर और पैसे देता रहूंगा। जिससे तुम अपनी जिंदगी आराम से काट सको।' स्वाभिमानी पत्नी ने इसे भी लेने से इनकार कर दिया। उसने कहा कि 'जब मैं आपके जीवन में स्वीकार नहीं तो फिर आप की संपत्ति पर मैं अपना कोई हक नहीं जताऊंगी। इसके बाद दोनों अलग हो गए। पति-पत्नी ने डायवोर्स पिटिशन दायर कर दी है। उधर पति ने गर्ल फ्रेंड के साथ मंदिर में विवाह कर लिया है।'


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here