Loading...    
   


KAMALNATH के खिलाफ SC-ST ACT की FIR के लिए ग्वालियर पुलिस को इमरती देवी का इंतजार - MP NEWS

ग्वालियर।
कैबिनेट मंत्री एवं डबरा से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी श्रीमती इमरती देवी अपने बयान में कह चुकी हैं कि अगर कमल नाथ पर SC-ST एक्ट नहीं लगा तो वे आत्महत्या कर लेंगी। अब स्थिति यह कि डबरा थाना पुलिस कमलनाथ के खिलाफ FIR दर्ज करने की तैयारी किए बैठी है। उसे कैबिनेट मंत्री श्रीमती इमरती देवी के बयान का इंतजार है। डबरा पुलिस बयान दर्ज कराने के लिए श्रीमती इमरती देवी को नोटिस जारी कर चुकी है, लेकिन चुनाव प्रचार में व्यस्तता का हवाला देते हुए इमरती देवी ने डबरा पुलिस को समय नहीं दिया है।

चुनाव आयोग ने मांगा जांच प्रतिवेदन

चुनाव आयोग ने इस मामले में ग्वालियर प्रशासन से कमल नाथ की अशोभनीय टिप्पणी का वीडियो और जांच प्रतिवेदन तलब किया है। उधर डबरा विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर प्रदीप शर्मा ने डबरा थाने में आवश्यक कार्रवाई के लिए बयान की सीडी सहित आवेदन दिया गया। इसके आधार पर डबरा थाना पुलिस ने बयान दर्ज कराने के लिए इमरती देवी को पत्र जारी किया है।

कमलनाथ के खिलाफ FIR में देरी, भाजपा की रणनीति क्या है

कमल नाथ के खेद जताने से लेकर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव राहुल गांधी ने भी अशोभनीय टिप्पणी पर आपत्ति जताई। राष्ट्रीय महिला आयोग और चुनाव आयोग ने भी संज्ञान लिया है। भाजपा भी इस मुद्दे को भुनाने में कसर नहीं छोड़ रही है, यही कारण है कि फिलहाल कमलनाथ के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज नहीं कराया जा रहा है। चुनाव प्रचार के दौरान मुद्दे को पूरी तरह से भुनाने की कोशिश की जा रही है। भारतीय जनता पार्टी की रणनीति कमलनाथ के खिलाफ मामला दर्ज कराने से ज्यादा प्रदेश भर में कमलनाथ की इमेज को डैमेज करना है। जब टारगेट अचीव हो जाएगा तब मामला दर्ज करा दिया जाएगा।

बयान दर्ज होते ही FIR दर्ज नहीं की जाएगी, पहले वीडियो की जांच कराएंगे: SP GWALIOR

ग्वालियर के पुलिस अधीक्षक श्री अमित शाह ने कहा कि बयान दर्ज होने के बाद आगे की कार्रवाई होगी। बयान दर्ज होने के बाद वीडियो को जांच के लिए लैबोरेटरी भेजा जाएगा।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here