Loading...    
   


INDORE मंडी का माफिया बन बैठा सचिव सस्पेंड - MP NEWS

इंदौर।
इंदौर मंडी में माफिया की तरह राज कर रहे कृषि उपज मंडी समिति के सचिव मानसिंह मुनिया को सस्पेंड कर दिया गया है। श्री मुनिया के खिलाफ कई कर्मचारी संगठनों ने शिकायत की थी। खुद इंदौर कलेक्टर भी निरीक्षण के समय नकारात्मक टिप्पणी कर चुके थे। मानसिंह मुनिया पर आरोप है कि उन्होंने कृषि उपज मंडी इंदौर के अंतर्गत आने वाली शासकीय संपत्ति का अपनी मर्जी के मुताबिक आवंटन कर दिया। व्यापारियों एवं किसानों को परेशान किया और शासन के निर्देशों का उल्लंघन किया। श्री मानसिंह मुनिया ने 15 अगस्त को ध्वजारोहण के समय हवाई फायर भी किए थे।

मानसिंह मुनिया को मंडी बोर्ड कार्यालय में अटैच किया गया

मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड के प्रबंध संचालक संदीप यादव ने मंडी सचिव मानसिंह मुनिया के निलंबन का आदेश जारी कर दिया। मुनिया को लेकर लंबे समय से इंदौर के विभिन्न विभागों, संगठनों, कर्मचारियों द्वारा शिकायत की जा रही थी। इसी पर कार्रवाई करते हुए यह निर्णय लिया गया। मुनिया कृषि उपज मंडी समिति इंदौर में ज्वाइनिंग के बाद से ही लगातार विवादों में रहे हैं। श्री मानसिंह मुनिया को इंदौर के बाहर भोपाल अटैच किया गया है।

इन मामलों में दोषी समझते हुए सस्पेंड किया गया

आलू-प्याज और लहसुन में विपणन व्यवस्था में अनियमितता।
मंडी में 9 दुकानों के अवैध आवंटन।
फल और सब्जी मंडी की कैंटीन का अवैध आवंटन।
काेविड संक्रमण की लॉकडाऊन अवधि में फल व सब्जी मंडी पर नियंत्रण का अभाव।
व्यापारियों के लाइसेंस नवीनीकरण में अनियमितता।
फल व सब्जी मंडी में फीस का अपवचन करने में दोषी।
15 अगस्त को मंडी परिसर में ध्वजारोहण के दौरान हर्ष फायर पर एफआईआर।
किसानों का भुगतान नहीं होने पर लगातार शिकायतें मिलना।
दो बार कलेक्टर और एक बार राजस्व आयुक्त के मंडी निरीक्षण में अनाधिकृत तौर पर अनुपस्थित रहना। 
मंडी के कार्य में लगातार सुधार किए जाने के निर्देश के बावजूद उदासीनता बरतना।

25 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here