Loading...    
   


ताजमहल के सामने स्थित डायना बेंच की मजेदार कहानी, पढ़िए सिर्फ 1 मिनट में | GK IN HINDI

Story of historical Diana bench at Tajmahal Agra 

ताजमहल की कहानियां और रहस्य तो आपको कई जगह पढ़ने को मिल जाएंगे परंतु हम यहां आपको ताजमहल के सामने स्थित एक ऐसी बेंच की कहानी सुनाने जा रहे हैं जो अपने आप में एक इतिहास समेटे हुए है। इस बेंच को लोग 'डायना बेंच' के नाम से जानते हैं। हो सकता है, आपने भी इस बेंच पर बैठकर फोटो खिंचवाया हो। 

ताजमहल के दीदार के लिए आने वाले पर्यटक आम हो या खास, डायना बेंच पर बैठकर फोटो खिंचाने के मोह से खुद को नहीं रोक पाते लेकिन क्या आप जानते हैं पर्यटकों के बीच आकर्षण का केंद्र रहने वाली डायना बेंच शाहजहां ने नहीं बनवाई थी। यह बेंच तालमहल का हिस्सा ही नहीं है। यह तो ताज बनने के 260 वर्ष बाद लगी थी। मजेदार बात तो यह है कि इस बेंच को 'डायना बेंच' का नाम 1992 यानी 344 साल बाद मिला। 

मुगल शहंशाह ने ताजमहल का निर्माण सन् 1632 से 1648 के बीच कराया था। तब ये बेंच नहीं थीं। इतिहासकारों के अनुसार वर्ष 1902 में तत्कालीन वायसराय लॉर्ड कर्जन आगरा आए थे। उनके कार्यकाल के दौरान ताजमहल परिसर में कई परिवर्तन कराए गए थे। गार्डन में लगे ऊंचे-ऊंचे पेड़ों की वजह से तब ताजमहल वीडियो प्लेटफार्म से नजर नहीं आता था। ताजमहल पूरा नजर आए, इसके लिए पुराने पेड़ों को काटा गया था।

लॉर्ड कर्जन के समय 1907-08 में सेंट्रल टैंक पर संगमरमर की चार बेंच लगाई गई थीं। इस बेंच पर बैठने के बाद पीछे ताजमहल का विहंगम नजारा भी कैमरे में कैद हो जाता है। ऐसे दृश्य वाला फोटो ताजमहल के दीदार की याद दिलाता रहता है।

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ जनवरी, 1961 में पति प्रिंस फिलिप के साथ ताज देखने आई थीं। उन्होंने भी सेंट्रल टैंक स्थित बैंच पर बैठकर फोटो खिंचवाए थे। मगर उनके नाम पर यह प्रसिद्ध न हो सकी।

वर्ष 1992 में ताजमहल देखने प्रिंसेज डायना आईं थीं। उन्होंने इसी बेंच पर बैठकर फोटो खिंचवाए थे। उनकी लोकप्रियता उस समय चरम पर पर थी। इसके बाद ये बेंच उनके नाम से ही जानने जाना लगा और डायना बेंच के नाम से ही पुकारी जाने लगी। डायना बेंच सेंट्रल टैंक पर मुख्य मकबरे की तरफ स्थित है। जहाँ ताजमहल तस्वीर पूरी तरह से कैमरे में कैद कि जा सकती हैं..!
Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article
(current affairs in hindi, gk question in hindi, current affairs 2019 in hindi, current affairs 2018 in hindi, today current affairs in hindi, general knowledge in hindi, gk ke question, gktoday in hindi, gk question answer in hindi,)


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here