Loading...

राजगढ़ एक्सीडेंट: बाइक सवार चार मजदूरों में से तीन की मौत | MP NEWS

अब्दुल वसीम अंसारी/राजगढ़। अभी कुछ दिन पहले ही राजगढ़ के एनएच 52 पर देशी शराब की दुकान के सामने एक 4 पहिया वाहन ने मोटर बाइक सवार को ज़ोरदार टक्कर मारी थी जिसमे पीछे बैठी महिला की मौके पर ही मौत हो गई थी और बाइक सवार गंभीर रूप से घायल हो गया था। कल रात फिर एक भयंकर हादसा राजगढ़ के एनएच 52 पर पीपलबे आश्रम के यंहा रात्रि 8 बजे के लगभग हुआ है, जंहा एक अज्ञात वाहन की टक्कर से 1 बाइक पर सवार 4 लोगों मे से 3 की मौके पर ही मौत हो गई, जिसमे से 2 सगे भाई बताए जा रहे है, एक अन्य को गंभीर चोट आने के कारण ब्यावरा के सिविल अस्पताल से भोपाल रेफेर किया गया है।

जानकारी के अनुसार चारों मजदूर थे और मजदूरी करके घर लौट रहे थे। मृतकों के नाम गोरधन पुत्र प्रेमा जी, कमल पुत्र प्रेमा जी, बद्री पुत्र प्रेम सिंह हैं। ये भेनपुरा (माचलपुर) झांजदपुर के रहने वाले थे। हादसा इतना भयानक था कि बाइक के साथ शवो के भी परखच्चे उड़ गए। हादसे में गंभीर घायल मोहर सिंह को प्राथमिक उपचार के बाद भोपाल रेफेर किया गया। सूचना पर एस पी राजगढ़ ने घटनास्थल पर पुलिसकर्मियों के साथ एम्बुलेंस भिजवाकर, घायल को ब्यावरा पहुचाया जंहा से घायल को भोपाल रेफर किया गया।

समाचार लिखे जाने तक पुलिस एक्सीडेंट करके भागे वाहन का पता नहीं लगा पाई है। नेशनल हाईवे नंबर 52 पर सड़क दुर्घटनाओं की संख्या बढ़ती जा रही है। परिवहन एवं पुलिस विभाग की लापरवाही के कारण सर्दी के मौसम में भारी वाहन चालक नशे में वाहन चला रहे हैं। जो पुलिस शहरी इलाकों में हेलमेट के प्रति काफी संवेदनशील नजर आती है वहीं पुलिस हाईवे पर ड्रिंक एंड ड्राइव की केस में उतनी ही संवेदनहीनता का परिचय देती है।

खबर का असर: चार्टर्ड बस ने टक्कर मारी थी

देहात थाना एएसआई एससी यादव के अनुसार हाइवे-52 पर ग्राम पीपल्वेआश्रम जोड़ के पास शनिवार को देर रात खिलचीपुर से इंदौर जा रही चार्टेड बस क्रमांक एमपी 09 एफए 9059 ने बाइक को सामने से टक्कर मार दी। हादसे में ग्राम भेनपुरा थाना राजगढ़ निवासी गोवर्धन (35) पुत्र पेमाजी अहिरवार, उसके भाई कमल (27) की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं मोरसिंह (20) पुत्र पेमाजी का एक पैर शरीर से अलग हो गया, जिसे नाजुक हालत में भोपाल रेफर किया गया है। वहीं हादसे में परिवार के बद्री (30) पुत्र प्रेमसिंह अहिरवार निवासी भेनपुरा की भी मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद बस चालक मौके से फरार हो गया। पुलिस ने चालक के खिलाफ धारा 279, 337, 338, 304ए, 184 एमव्ही. एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर तलाश शुरू की। बताया गया है कि एक ही परिवार के चारों लोग ब्यावरा से मजदूरी कर लौट रहे थे। परिजनों ने बताया कि मृतक पांच भाई हैं, जिसमें दो की मौत हो गई और एक का पैर कटने से असहाय हो गया, साथ ही तीनों के छोटे-छोटे बच्चे हैं।