Loading...

एक पौधा जिसका बीज बेचने वाले को सजा-ए-मौत दी जाती है | GK IN HINDI

दुनिया में लाखों वनस्पतियां है। पर्याप्त संरक्षण के अभाव में लाखों वनस्पतियां लुफ्त भी हो चुकी है। सारी दुनिया में फसलों के अच्छे बीजों का क्रय विक्रय होता है परंतु क्या आपको पता है एक फसल ऐसी भी है जिसके बीजों का विक्रय नहीं किया जाता। यह फसल मुख्य रूप से अफगानिस्तान, ईरान, तुर्कमेनिस्तान और बलूचिस्तान में होती है। इन देशों की सरकारों ने कानून बना रखा है यदि कोई भी व्यक्ति इस खास किस्म की फसल का एक भी बीज देश के बाहर किसी को बेच देगा तो उसे सजा-ए-मौत दी जाएगी। इस फसल का नाम है हींग। जी हां वही हींग जो आपके रसोईघर में पाई जाती है और नजदीक के हर किराने की दुकान पर मिलती है।

दुनिया में सबसे ज्यादा हींग का उपयोग भारत में होता है लेकिन पैदावार नहीं होती

दुनिया में साल भर में पैदा की जाने वाली हींग का 40 प्रतिशत इस्तेमाल भारत में होता है। मसालों से लेकर दवाइयों में हींग का इस्तेमाल किया जाता है। आप को जान कर हैरानी होगी कि हमारी रसोई की पहचान बन गई हींग का उत्पादन भारत में नहीं होता है जिससे भारत को हर साल करोड़ो की हींग विदेशो से खरीदनी पड़ती है ।

अब भारत में भी उगाई जाएगी हींग की फसल 

आपको जानकर खुशी होगी इंडियन कॉफी बोर्ड के साथ से डॉक्टर विक्रम शर्मा ईरान सिंह के बीज हासिल करने में सफल हो गए हैं। भारत में हींग की फसल का उत्पादन शुरू करना चाहते हैं। भारत की जमीन पर हींग के बीच का परीक्षण किया जा चुका है। या परीक्षण सफल रहा। भारत की जमीन पर एक की फसल उगाई जा सकती है। डॉक्टर विक्रम शर्मा के पास खेत नहीं है। वो चाहते हैं कि सरकार ने जमीन थी ताकि उस पर हींग की खेती कर सकें। यदि ऐसा हुआ तो भारत को काफी मुनाफा होगा क्योंकि उसे हींग का आयात नहीं करना पड़ेगा।