अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्रवाई होगी | WORLD NEWS

इंटरनेशनल न्यूज़ डेस्क। दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग चलाने की अनुमति दे दी गई है। अमेरिका की प्रतिनिधि सभा के स्पीकर नैंसी पेलोसी ने डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की अनुमति उस समय दी जब ट्रंप ब्रिटेन की यात्रा पर है। 

डोनाल्ड ट्रंप लोकतंत्र के लिए खतरा, महाभियोग के अलावा कोई विकल्प नहीं: स्पीकर

गुरुवार को नैन्सी पेलोसी ने घोषणा की कि प्रतिनिधि सभा डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए मसौदा तैयार करे। उन्होंने कहा, 'राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हमारे लोकतंत्र के लिए खतरा हैं और हमारे सामने उनके खिलाफ महाभियोग चलाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।' अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर ने महाभियोग चलाने को उस समय हरी झंडी दी है, जब डोनाल्ड ट्रंप तीन दिवसीय दौरे पर ब्रिटेन गए हैं।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि वो महाभियोग के खिलाफ जंग में जीतेंगे। उन्होंने कहा, 'बुधवार को सदन में डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों के लिए बुरा दिन था। उनके पास महाभियोग का कोई मामला नहीं है और वो देश को बदनाम कर रहे हैं। हालांकि उनके लिए कुछ भी मायने नहीं रखता है। वो पागल हो गए हैं। लिहाजा मैं कहता हूं कि अगर आप लोग मेरे खिलाफ महाभियोग चलाने जा रहे हैं, तो अब इसको जल्दी करो, ताकि हम सीनेट में इसकी निष्पक्ष सुनवाई कर सकें और देश में कामकाज सामान्य हो सके।'

ट्रंप ने कहा कि डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता मेरे खिलाफ महाभियोग चलाने की सिर्फ घोषणा कर सकते हैं। यहां सबसे अच्छी बात है कि रिपब्लिकन पार्टी के नेता कभी ज्यादा एकजुट नहीं हुए हैं। हालांकि महाभियोग के खिलाफ लड़ाई हम जीतेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग समय लाया गया है, जब वो नाटो सम्मलेन में हिस्सा लेने के लिए लंदन गए हुए हैं।


इससे पहले डेमोक्रेटिक पार्टी के बहुमत वाले अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की ज्युडिशियरी कमेटी ने राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ महाभियोग जांच की प्राथमिक रिपोर्ट जारी की थी। इसमें ट्रंप को दोषी करार दिया गया था। रिपोर्ट में दावा किया गया कि डोनाल्ड ट्रंप ने अपने व्‍यक्तिगत और सियासी मकसदों को पूरा करने के लिए राष्ट्रहित से समझौता किया है। साथ ही अपनी शक्तियों का दुरुपयोग करते हुए 2020 राष्‍ट्रपति चुनाव में अपने पक्ष में विदेशी मदद मांगी।

डोनाल्ड ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने यूक्रेन को पूर्व अमेरिकी उप-राष्ट्रपति जो बिडेन और उनके बेटे के खिलाफ जांच शुरू करने के लिए कहा था। वहीं, डोनाल्ड ट्रंप ने भी डेमोक्रेट सांसदों पर देश हित के साथ समझौता करने का आरोप लगाया था।