नीट परीक्षा के लिए आवेदन जारी, जानिये कैसे कर सकते है तैयारी | NEET EXAM PATTERN AND PREPARATION
       
        Loading...    
   

नीट परीक्षा के लिए आवेदन जारी, जानिये कैसे कर सकते है तैयारी | NEET EXAM PATTERN AND PREPARATION

MBBS और MD COURSE में दाखिला के लिए NEET यानि नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्ट के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 2 दिसंबर से जारी है। अभ्यर्थी 31 दिसंबर तक फॉर्म (ADMISSION FORM) भर सकते हैं। इसके लिए आपको ntaneet.nic.in के जरिए अप्लाई करना होगा। आवेदन करने वाले छात्र फॉर्म भरने से पहले ऑफिशियल साइट पर पूरी डिटेल्स सावाधानी पूर्वक पढ़ लें, ताकि फॉर्म भरने में कोई गलती ना हो, क्योंकि गलत भरा हुआ फॉर्म निरस्त हो जाएगा और आप परीक्षा देने से वंचित हो सकते हैं। एक गलती से आपका एक साल बर्बाद चले जाएगा।

कब आयोजित होगी परीक्षा ? | neet exam date

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट 3 मई 2020 को होगा। नीट एग्जाम देश के 154 शहरों में आयोजित होगी। जिसके लिए कुल 2546 एग्जाम सेंटर बनाए जाएंगे। परीक्षा परिणाम ऑफिशियल वेबसाइट पर 4 जून को घोषित किया जाएगा। नीट यूजी 2020 की परीक्षा में सफल होने वाले अभ्यर्थियों को मेरिट के आधार पर देशभर के मेडिकल कालेजों, यूनिवर्सिटी और डीम्ड यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस और बीडीएस के कोर्सों में एडमिशन मिलेगा।

नीट परीक्षा 2020 का पैटर्न | Neet exam pattern

नीट एग्जाम 3 घंटे का होता है। इस पेपर में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी तीन सेक्शन होते हैं। तीनों सेक्शन से कुल 180 सवाल होंगे, जिसमें से 90 सवाल बायोलॉजी से होते हैं। 45 फिजिक्स, 45 केमिस्ट्री से होंगे। पेपर में निगेटिव मार्किंग भी होती है। हर सही जवाब के लिए 4 नंबर दिए जाते हैं और हर गलत जवाब के लिए 1 नंबर काटा जाता है। जो सवाल अटेंप्ट नहीं करेंगे उसका कोई नंबर नहीं काटा जाएगा।

ऐसे करें नीट परीक्षा की तैयारी, मिलेगी सफलता | how to neet exam preparation

1- नीट परीक्षा में सफलता पाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण अध्ययन सामाग्री का चयन होता है। क्योंकि नीट परीक्षा सीबीएसई कराती है, और एनसीईआरटी की बुक्स से ज्यादातर क्वेस्चन पूछे जाते है। इसलिये एनसीईआरटी की किताबों का अच्छे से अध्ययन करें। चाहे आप किसी भी बोर्ड से पढ़ाई कर रहे हैं। इसके अलावा बाजार से भी नीट परीक्षा संबंधित स्टडी मैटेरियल खरीद सकते है। हां अगर आपका कोई जानने वाला है जिसने NEET परीक्षा क्लीयर की है उससे आप हेल्प ले सकते है। किस तरीके की अध्ययन सामाग्री खरीदनी है और ये स्टडी मैटेरियल कहां से मिलेगा। इससे आपको परीक्षा की तैयारी करने में बहुत हेल्प मिलेगी। साथ ही आप कोचिंग सेंटर में जाकर भी परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं।

2- परीक्षा चाहे कोई भी हो उसमें सफलता की दूसरी सबसे बड़ी कुंजी टाइम मैनेजमेंट है। परीक्षाओं में भी आप अगर NEET जैसी टफ परीक्षा की तैयारी कर रहे हो तो। टाइम टेबल बेहद खास होता है। क्योंकि बहुत सारे छात्रों की शिकायत रहती है कि वो पढ़ाई तो घंटों करते है, लेकिन नतीजा नहीं मिलता। इसलिये नीट की तैयारी समयबद्ध तरीके से की जानी चाहिए। टाइम टेबल में सभी सब्जेक्ट को समय देना चाहिए और किसी भी सब्जेक्ट को तीन घंटे से ज्यादा ना दें, क्योंकि कम समय में आपको ज्यादा पढ़ाई करनी होती है। अगर आप खुद को किसी विषय में कमजोर समझते हैं, तो उस सब्जेक्ट को एक्सट्रा टाईम दे सकते हैं। हररोज का एक टाइम टेबल बना लें और फिर उसी के मुताबिक अध्ययन करें। हां एक और बेहत जरूरी बात, आपको 11वीं और 12वीं क्लास की केमिस्ट्री, फीजिक्स और मैथ्स की किताबों की डीप स्टडी करनी होगी। ताकि आपका बेसिक कॉन्सेप्ट्स क्लीयर हो।

3- नीट परीक्षा में सक्सेस होने के लिए पुराने साल के पेपर और लेटस्ट मॉडल पेपर को सॉल्व करना बहुत जरूरी है। कम से कम पिछले 6 साल के क्वेस्चन पेपर्स को हल करें। इससे आपको पेपर के बारे में अच्छे से पता लग जाएगा, यानि पेपर का स्टैंडर कैसा है, कैसे प्रश्न पूछे जाते है और उनका डिफिक्लटी लेवल कैसा होता है। और पुराने पेपर और मॉडल पेपर सॉल्व करने से आपको ये भी पता लग जाएगा कि आप इसे सॉल्व करने में कितना समय ले रहे हैं।

4- अक्सर देखा जाता है कई छात्र परीक्षा की तैयारी रट्टा मारकर करते हैं। लेकिन जब परीक्षा में रट्टा मारे प्रश्न नहीं आते तो, प्रश्न उनके सिर के उपर से बाउंसर की तरह से गुजर जाते है। रट्टा मारने की आदत से कभी सफलता हाथ नहीं लगेगी। बेसिक कॉन्सेप्ट्स स्पष्ट होना जरूरी है। पढ़ाई को बोझ ना समझकर इसे एंजॉय करें।

5- नीट परीक्षा की तैयारी के लिए जितनी अहम पढ़ाई है। उतना ही नीट परीक्षा के बारे में जानकारी होना आवश्यक है। इसके लिए आप परीक्षा पैटर्न, सिलेबस, मार्क्स, परीक्षा तारीख, परीक्षा की टाइमिंग इत्यादि की सही जानकारी होनी चाहिए और फिर उसके मुताबिक ही तैयारी करें। साथ ही ऐसा ना हो की आप आगे बढ़ते जा रहे हैं, लेकिन पीछे जो पढ़ा है उसे भूल रहे है। इसलिये बीच-बीच में रिविजन भी जरूर करें। ताकि आपको कोई कन्फ्यूजन ना हो। इससे आप अपडेट भी रहेंगे। नीट की परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग भी होती है। इसलिए हर प्रश्न का सोच समझकर जवाब दें।

6- पॉजिटिव एटिट्यूड से ही शिखर को छुआ जा सकता है। चाहे वह निजी जिंदगी हो या परीक्षा पास करने की बात हो। इसमें पॉजिटिव नजरिया अहम भूमिका निभाता है। इस लिए परीक्षा की तैयारी करते समय सकारात्मक रहना बेहत जरूरी है। नीट परीक्षा पास करनी है तो लगन, ध्यान, ऊंचा मनोबल, समर्पण भाव होना जरूरी है क्योंकि पॉजिटिव एटिट्यूड से ही चुनौतियों से पार पाया जा सकता है। आपका फोकस उसी बिंदु पर होना चाहिए। जिसे आपने भेदना है। अपने आस-पास निगेटिविटी को झांकने ना दें।