मध्यप्रदेश में शिक्षकों की काउंसलिंग आरक्षण के नाम पर अटका रखी है | MPTETJOINING
       
        Loading...    
   

मध्यप्रदेश में शिक्षकों की काउंसलिंग आरक्षण के नाम पर अटका रखी है | MPTETJOINING

भोपाल। मध्यप्रदेश में लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति का क्रम शुरू हो गया है परंतु इससे पहले हुई उच्च माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा में प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड द्वारा चयनित शिक्षकों की काउंसलिंग अब तक शुरू नहीं हो पाई है। बता देगी यह परीक्षा 2018 में आयोजित हुई थी और अब वर्ष 2019 समाप्त होने को है। सरकार अब तक या नहीं बता पाई है कि नियुक्ति आदेश कब तक जारी होंगे।

सामान्य प्रशासन विभाग के मार्गदर्शन का इंतजार 

मध्य प्रदेश की स्कूल शिक्षा विभाग व जनजातीय कार्य विभाग के 17220 पदों पर नियुक्तियां की जानी है। दोनों विभागों में काउंसलिंग एक साथ होगी। नवंबर में शिक्षा मंत्री द्वारा किए गए एक ट्वीट के बाद बताया जा रहा था कि 1 दिसंबर को काउंसलिंग के लिए नोटिफिकेशन जारी हो जाएगा परंतु अब पता चला है कि आरक्षण के मामले में नोटिफिकेशन अटक गया है। सामान्य प्रशासन विभाग से मार्गदर्शन मांगा है जो अब तक प्राप्त नहीं हुआ है। 

स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभु राम चौधरी ने क्या ट्वीट किया था

स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी ने 16 नवंबर को ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि उच्च माध्यमिक शिक्षक भर्ती के तहत जल्द ही काउंसलिंग शुरू होगी। जनवरी 2020 में शिक्षक बनने वाले सभी उम्मीदवारों को अग्रिम बधाई। मंत्री की बधाई के बाद उम्मीदवारों को उम्मीद थी कि 1 दिसंबर को सूचना जारी हो जाएगी, लेकिन आज तारीख 5 दिसंबर हो गई कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ। 

शिक्षा मंत्री ने बधाई दे दी तारीख नहीं बताई

उम्मीदवार मांग कर रहे हैं कि विभाग को अधिकारिक तौर पर एक निधार्रित शेड्यूल जारी करना चाहिए, क्योंकि मंत्री ने बधाई तो दी, लेकिन तारीख और महीना नहीं बताया कि उन्हें 2020 में शिक्षक बनने का कब मौका मिलेगा। इसलिए उम्मीदवार सोशल मीडिया के माध्यम से स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों समेत विभागीय मंत्री व मुख्यमंत्री से जल्द भर्ती कराने की मांग कर रहे हैं। 

16वें विषय रिजल्ट भी घोषित हो चुका है

उच्च माध्यमिक शिक्षकों की 16 विषयों में भर्ती होनी है। पीईबी द्वारा परीक्षा 1 से 11 फरवरी 2016 तक आयोजित की गई। 15 विषयों के रिजल्ट 6 महीने बाद घोषित किए गए। 16वें विषय के रूप में अंग्रेजी विषय का रिजल्ट 29 नवंबर को घोषित हो चुका है। ऐसे में अब उम्मीदवार भर्ती शुरू करने की मांग तेजी से बढ़ा रहे हैं। 

क्या अब काउंसलिंग के लिए आंदोलन और प्राथमिक शिक्षक परीक्षा के लिए प्रदेश बंद करवाना पड़ेगा 

लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित उम्मीदवारों ने मुंडन कराया, रैली निकाली तो सरकार की नींद टूटी और नियुक्ति आदेश जारी करने के लिए प्रक्रिया आरंभ की गई। सवाल यह है कि क्या उच्च माध्यमिक शिक्षक पद के लिए काउंसलिंग शुरू कराने हेतु भी कोई आंदोलन करना पड़ेगा। प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा अभी शेष है क्या उसके आयोजन के लिए प्रदेश बंद का आह्वान करना होगा। महत्वपूर्ण प्रश्न है कि यह सरकार कोई भी काम निर्धारित तारीख पर क्यों नहीं कर रही।