Loading...

पीयूष की गर्लफ्रेंड श्रेयांशी पांडे के खिलाफ हत्या का मामला चलेगा: किशोर न्याय बोर्ड | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 3 महीने पहले अपनी गर्लफ्रेंड श्रेयांशी पांडे से मिलने आए सागर जिले के सर्राफा कारोबारी के बेटे पीयूष जैन की हत्या के मामले में श्रेयांशी के खिलाफ हत्या का मामला चलेगा। श्रेयांशी की तरफ से दावा किया गया था कि वह नाबालिग है परंतु किशोर न्याय बोर्ड ने माना है कि श्रेयांशी शारीरिक एवं मानसिक रूप से सक्षम है। उसकी उम्र 16 से 18 साल के बीच है। श्रेयांशी को अपराध और उसके परिणामों के बारे में भली-भांति जानकारी थी।

किशोर न्याय बोर्ड की प्रधान मजिस्ट्रेट प्रीति साल्वे ने ने 14 दिसंबर 2019 को दिए आदेश में लिखा है कि श्रेयांशी का ऑक्सीफिकेशन टेस्ट कराया गया है। इस आधार पर किशोरी की आयु 17 से 19 वर्ष के बीच होना बताई गई है । घटना 27 जुलाई 2019 की है। इस प्रकार घटना के समय किशोरी की आयु 16 से 18 वर्ष के बीच थी। इस संबंध में कोई विवाद नहीं है कि किशोरी की आयु 16 वर्ष से अधिक होना प्रमाणित होता है।

बाल न्यायालय में पिता की गुहार

मृतक के पिता की ओर से एडवोकेट निशांत गोयल ने अर्जी पेश कर लड़की की आयु के सबंध मे टेस्ट कराने की मांग की थी। फरियादी की और से पेश आपत्ति और दस्तावेजों में विरोधाभास होने पर मजिस्ट्रेट प्रीति साल्वे ने ऑक्सीफिकेशन टेस्ट कराया था। इसके बाद मामला जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेंद्र कुमार वर्मा की अदालत में सुनवाई के लिए भेजा गया। मामले की अगली सुनवाई 6 जनवरी को होगी। 

घटना का विवरण 

अशोका गार्डन पुलिस के अनुसार पीयूष जैन सुबह राज्यरानी एक्सप्रेस से भोपाल आया था। उसने श्रेयांशी बात की और दोपहर डेढ़ बजे वह नवाब काॅलोनी उसके कमरे पर पहुंच गया था। इसके बाद वह दो बार घूमने भी गया। शाम को वह शराब पीकर कमरे पर पहुंचा। रात 12 बजे पीयूष के साथ अरजान, श्रेयांशी, सद्दाम और एक अन्य युवती शराब पी रही थी। इस बीच पीयूष का श्रेयांशी से कहना था कि मैं यहां यह देखने आया था कि तेरे को ऐसा कौन सा सुंदर लड़का मिल गया, जिस कारण तूने मुझे छोड़ दिया। पीयूष ने उसे गालियां देना शुरू कर दी। उसके चरित्र को लेकर भी अपशब्द कहे। अरजान ने पीयूष को समझाया कि वह उसकी गर्लफ्रेंड के बारे में अपशब्द नहीं बोले। इसी बात पर विवाद बढ़ने पर अरजान ने पीछे से पीयूष के सिर पर मोटी लकड़ी से हमला कर दिया। अपनी गलती छिपाने रात 2.30 बजे पीयूष को हमीदिया अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां बताया कि सीढ़ियों से गिरने के कारण बेहोश हो गया है। अरजान बैरसिया रोड स्थित कांग्रेस नगर का रहने वाला है।