Loading...

कमलनाथ छिंदवाड़ा से चल रही थी चिटफंड कंपनी, छत्तीसगढ़ में कर्मचारियों से करोड़ों की ठगी | MP NEWS

भोपाल। छत्तीसगढ़ राज्य की कोरबा में स्थित दक्षिण पूर्वी कोलफील्ड्स (South Eastern Coalfields) के कर्मचारियों के साथ करोड़ों की ठगी का मामला सामने आया है। एक चिटफंड कंपनी ने मोटा ब्याज देने का लालच देकर कर्मचारियों को अपने झांसे में लिया और फरार हो गए। कोरबा पुलिस ने पुलिस ने इस मामले में चिटफंड कंपनी के तीनों संचालकों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों में से दो छिंदवाड़ा के हैं। दोनों मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में ही छुपे हुए थे जहां से उन्हें गिरफ्तार किया गया। बता दें कि छिंदवाड़ा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का शहर है। 

छिंदवाड़ा से मनिंदर लिखारे व आशीष गुप्ता गिरफ्तार

पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनकी गिरफ्तारी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के गृह शहर छिंदवाड़ा से हुई है। गिरफ्तार आरोपियाें के नाम मनिंदर लिखारे व आशीष गुप्ता है। दोनों को कोरबा पुलिस छिंदवाड़ा से गिरफ्तार कर लाई है। जबकि इस मामले के एक अन्य आरोपी सचिन दामोदर की गिरफ्तारी पहले ही हो चुकी है।

निशाने पर रहते थे SECL के कर्मचारी 

कोरबा पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने कोरबा में चिटफंड कंपनी का ऑफिस खोल रखा था। ये लाेग एसईसीएल के कर्मचारियों को को निशाना बनाते थे। बताया जा रहा है कि एसईसीएल के कर्मियों से इन्होंने करोड़ोंं की ठगी की है। आरोपी निवशकों से जमा पैसों को इतर व्यवसाय जैसे दुकानों, शॉपिंग मॉल आदि पर खर्च करते थे। आरोपियों ने निवशकों को करोड़ों रुपए का चूना लगाया है।