Loading...

जीतू सोनी का सब कुछ तबाह कर देने के बाद भी अफसरों में दहशत, पलटवार कर सकता है | INDORE NEWS

इंदौर। संझा लोकस्वामी अखबार के मालिक जीतू सोनी के होटल घर और ऑफिस सब कुछ जमी दोष कर देने के बाद भी अफसरों में दहशत है। उन्हें डर है कि जीतू सोनी कभी भी पलटवार कर सकता है। पता चला है कि जीतू सोनी अपने साथ दो बैग भी ले गया था। उन दोनों बैग में क्या था किसी को नहीं पता। बता दें कि जीतू सोनी हर अधिकारी और माफिया की फाइल बनाता था। 

जीतू सोनी से जुड़े संदिग्धों के मोबाइल सर्विलांस पर

पूरे घटनाक्रम की एडीजी (इंटेलिजेंस) डॉ. एसडब्ल्यू नकवी रिपोर्ट ले रहे हैं। कार्रवाई में शामिल अफसरों को डर है कि जीतू कभी भी पलटवार कर सकता है। इस कारण कई अफसर कार्रवाई में तो शामिल हैं, लेकिन छोटों को आगे कर खुद सामने आने से बचते हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक कई लोगों के मोबाइल को सर्विलांस पर रखा गया है जिसमें पत्रकार, वकील और बिल्डर शामिल हैं।

महिला के घर से जीतू सोनी का एक बैग मिला, पुलिस ने खुलासा नहीं किया

मानव तस्करी, लूट और धोखाधड़ी जैसे गंभीर मामलों में फरार जीतू सोनी ने भागने के आधा घंटा पहले एक महिला के घर बैग छिपाया था, जबकि एक थैली खुद लेकर भाग गया था। क्राइम ब्रांच ने महिला के घर छापा मारकर बैग बरामद कर लिया है। उसमें क्या मिला, इसका खुलासा नहीं किया गया है। मामले में कुछ अन्य महिलाओं और रसूखदारों के नाम सामने आए हैं। 

जीतू सोनी का साथी राजू अग्रवाल हिरासत में

क्राइम ब्रांच ने मंगलवार को राजू अग्रवाल को एबी रोड से हिरासत में लिया था। राजू मरीमाता क्षेत्र में रहता है और करीब 19 साल से जीतू सोनी से जुड़ा है। वह माय होम होटल में होने वाला कलेक्शन संभालता था। उसे राजेंद्र नगर थाने में रखा गया और सख्ती से पूछताछ की। पहले राजू ने जानकारी होने से इनकार कर दिया। अफसरों ने वे सीसीटीवी फुटेज दिखाए जिसमें जीतू थैली लेकर जा रहा था तो वह टूट गया और कहा भागने के आधा घंटा पहले ही सेठ (जीतू) ने उससे कहा था कि संवाद नगर में दीदी (जीतू की प्रेमिका संगीता की बहन) के घर में रख देना।

कांग्रेसी नेता की रिश्तेदार महिला भी जीतू सोनी से मिलने आती थी

जैसे ही वह बैग रखकर आया, होटल में भीड़ लग चुकी थी। अचानक किसी का फोन आया और सेठ एक अन्य थैली लेकर लाल रंग की कार से सेंटपॉल स्कूल की तरफ चले गए। इसके बाद कोई संपर्क नहीं हुआ। उनका फोन भी बंद आ रहा था। राजू ने कुछ महिलाओं के नाम भी बताए हैं जिसमें एक कांग्रेस नेता की रिश्तेदार भी है। उसने कहा कि वह सेठ के पास आती थी। कई बार सेठ भी मिलने जाते थे, लेकिन क्या बातें होती थीं, इसकी जानकारी नहीं है। मुंबई में रहने वाली प्रेमिका सोनिया और उसकी बेटी भी संपर्क में रहती है। मोबाइल रिचार्ज, बिल भरने के काम वही करता है।

जीतू सोनी से जुड़े पत्रकारों की लिस्ट बना रही है

क्राइम ब्रांच ने राजू से ऐसे सवाल किए जो उसके और जीतू के बीच के थे। उससे कहा कि वह जीतू के लिए हवन कराने की तैयारी कर रहा था। यह भी पूछा कि क्या वह गांजा पीता है और जीतू का बेहद करीबी है? राजू को कुछ फोटो और फुटेज भी दिखाए गए। उसमें वे पत्रकार थे जो छापे की सूचना पर होटल माय होम पहुंचे थे। राजू ने उन लोगों के बारे में बता दिया जिन्हें पहचानता था।

जीतू के भाई हुकुम और महेंद्र भी मानव तस्करी व वेश्यावृत्ति में नामजद किए गए

पलासिया थाने में दर्ज मानव तस्करी और वेश्यावृत्ति के मामले में पुलिस ने जीतू सोनी के भाई हुकुम सोनी और महेंद्र सोनी को भी आरोपित बनाया है। दोनों ही होटल में डायरेक्टर की भूमिका में हैं। टीआई विनोद दीक्षित के मुताबिक होटल अमनदीप प्रा.लि. (माय होम) के रिकॉर्ड की जांच में खुलासा हुआ कि जीतू सोनी के साथ महेंद्र सोनी व हुकुम सोनी भी डायरेक्टर हैं। इस कारण दोनों को भी आरोपित बनाया गया है। पीड़िताओं ने भतीजे जिग्नेश सोनी सहित कर्मचारी पंथी, पांडे, मौर्या सहित करीब 10 लोगों के नाम बताए हैं। उनकी भूमिका जांची जा रही है। उधर, जीतू के साथ सहआरोपित बनाए जाने से नाराज तबला-ढोलक वादकों के परिजन बुधवार को भी पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचे और कार्रवाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।