पूरा जिला प्रशासन हर सुबह गश्त पर निकलेगा, कलेक्टर ने सबकी ड्यूटी लगाई | GWALIOR NEWS
       
        Loading...    
   

पूरा जिला प्रशासन हर सुबह गश्त पर निकलेगा, कलेक्टर ने सबकी ड्यूटी लगाई | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। स्वच्छता सर्वेक्षण में लगातार फिसड्डी चल रहे कार्य शहर को प्रतिष्ठा दिलाने के लिए कलेक्टर ने अब पूरे जिला प्रशासन को ड्यूटी पर लगा दिया है। कलेक्टर अनुराग चौधरी ने जिला मुख्यालय के सभी प्रमुख अधिकारियों को स्वच्छता के लिए नोडल अधिकारी बना दिया है। आदेशित किया गया है कि वह हर सुबह 6:00 से 7:00 तक अपने वार्ड में कष्ट करेंगे और साफ सफाई सुनिश्चित कराएंगे। कलेक्टर ने यह भी कहा है कि साफ सफाई के बाद स्वच्छ स्थान का फोटो लेकर उन्हें व्हाट्सएप करें।

गंदगी और कचरा मिलाकर नगर निगम के वार्ड ऑफिसर के खिलाफ कार्रवाई होगी

कलेक्टर अनुराग चौधरी ने उक्त आशय के निर्देश सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में अधिकारियों को दिए। बैठक में एडीएम किशोर कान्याल, अपर कलेक्टर अनूप कुमार सिंह, टी एन सिंह सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री चौधरी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि साफ-सफाई कार्य के निरीक्षण के साथ अधिकारी अपनी विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी लें तथा निरीक्षण करें। नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई भी करें। उन्होंने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण के दौरान ऐसे क्षेत्र जहां भ्रमण के दौरान गंदगी एवं कचरा संग्रहित पाए जाने पर संबंधित वार्ड ऑफीसर का वेतन काटने की कार्रवाई की जायेगी। 

तलघरों में चल रहे स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश

कलेक्टर ने नालों पर अतिक्रमण कर अवैध रूप से बनाए गए भवनों को तोडऩे हेतु नगर निगम एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए। श्री चौधरी ने नगर निगम एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि नगर में बनने वाले भवनों में मापदण्डों के अनुसार सुरक्षा के समुचित प्रबंध हो एवं भवनों में सुरक्षा नियमों का पूर्ण रूप से पालन भी हो। उन्होंने जिले में तलघरों में स्कूलों का संचालन करने वालों के विरूद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए। 

बिजली कंपनी ट्रांसफार्मर के नीचे साफ सफाई कराएं

कलेक्टर ने विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी को निर्देश दिए कि विद्युत ट्रांसफार्मरों के नीचे खड़ी गाजर घास एवं अन्य प्रकार के कचरे को साफ कराएं, जिससे किसी प्रकार की अनहोनी न हो सके एवं ट्रांसफार्मर खुले न रखें। उन्होंने होटल, ढाबों एवं अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में बाल श्रम की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी, डीपीएस एवं श्रम निरीक्षक को नोटिस देने के निर्देश दिए। 

जहां भी अतिक्रमण देखें तत्काल कार्रवाई कर रहे हैं

कलेक्टर ने कहा कि जिले में पदस्थ अधिकारी एवं कर्मचारी द्वारा बेहतर एवं उत्कृष्ट कार्य करने वालों का सम्मान किया जायेगा। जबकि कार्य न करने एवं अपने दायित्वों के प्रति गंभीर न होने वाले शासकीय सेवकों के विरूद्ध कार्रवाई की जाए। कलेक्टर ने सडक़ पर संग्रहित की गई रेत, गिट्टी एवं भवन सामग्री को हटाने की कार्रवाई कर मौके पर ही फाईन करने के निर्देश दिए। बैठक में सीएम हैल्पलाइन, जन अधिकार कार्यक्रम एवं समय-सीमा के पत्रों की भी समीक्षा की गई।