Loading...

GOOD JOB: महिला SI ने हत्या के फरार आरोपी को शादी के लिए प्रपोज किया, गिरफ्तार कर लिया | MP NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के नौगांव पुलिस ने शाबाशी के लायक काम किया है। मध्यप्रदेश में हत्या करके उत्तर प्रदेश में जा छिपे एक आरोपी को मध्य प्रदेश पुलिस की सब इंस्पेक्टर माधवी अग्निहोत्री ने पहले अपनी बातों की जाल में फसाया फिर शादी के लिए प्रपोज किया और जब हत्या का फरार आरोपी उसे देखने के लिए आया तो गिरफ्तार कर लिया गया।

मामला क्या है 

बालकिशन चौबे पर हत्या का आरोप है। वह कई महीनों से फरार था। एसपी छतरपुर ने उस पर ₹10000 का इनाम घोषित कर रखा था। फरारी के दौरान लगातार मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सीमा के निकट बना रहता था। ऐसा वह इसलिए करता था ताकि पुलिस को उसके पास तक पहुंचने में मुश्किल आए। पुलिस की कार्यप्रणाली के अनुसार एक थाने की पुलिस बिना औपचारिकता पूर्ण किए दूसरे थाना क्षेत्र में नहीं जा सकती। इसी प्रकार एक राज्य की पुलिस औपचारिक कार्यवाही पूर्ण किए बिना दूसरे राज्य में आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकती फिर चाहे पुलिस के पास पुख्ता सूचना ही क्यों ना हो। ज्यादातर शातिर अपराधी पुलिस की व्यवस्था में मौजूद इस खामी का फायदा उठाते हैं। बालकिशन चौबे ऐसा ही कर रहा था।

पुलिस के पास पुख्ता सूचना थी लेकिन गिरफ्तार नहीं कर सकते थे 

छतरपुर जिले के नौगांव थाना प्रभारी बैजनाथ शर्मा ने बताया कि उनके पास पुख्ता सूचना थी कि बालकिशन चौबे मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित बिजोरी गांव में छुपा हुआ है जो उत्तर प्रदेश में आता है। पुलिस के पास उसका मोबाइल नंबर भी था लेकिन फिर भी उसे गिरफ्तार नहीं कर पा रहे थे। जब तक औपचारिकता पूरी करते काफी समय गुजर जाता। उत्तर प्रदेश पुलिस वैसे भी सीमावर्ती इलाकों में मध्य प्रदेश पुलिस की सक्रिय मदद नहीं करती। 2 राज्यों की पुलिस के बीच समन्वय के अभाव का बालकिशन चौबे फायदा उठा रहा था। 

हत्या के आरोपी को थाना क्षेत्र में बुलाने खास तरह का प्लान बनाया

छतरपुर जिले के नौगांव थाना में पदस्थ सब इंस्पेक्टर माधवी अग्निहोत्री इस ऑपरेशन की अहम कड़ी थी। माधवी अग्निहोत्री ने बालकिशन चौबे से फोन पर बात करना शुरू किया। माधवी ने बालकृष्ण को शादी के लिए प्रपोज किया। बाल किशन झांसे में आ गया। वह माधुरी को देखने के लिए उसके घर आने तैयार हो गया। पुलिस ने फटाफट एक मकान को माधुरी का घर बनाया और चारों तरफ मोर्चा बांध लिया। निर्धारित समय पर बाल किशन अपनी भावी पत्नी को देखने के लिए आया। वह पूरी तरह निश्चिंत था। माधवी ने उसका स्वागत सत्कार किया फिर चाय बनाने के बहाने भीतर गई और मोर्चाबंदी करके बैठी पुलिस को सिग्नल दे दिया।

पुलिस की टीम ने बालकिशन को घेर लिया। उसके पास भागने का कोई रास्ता नहीं था। उसे आसानी से गिरफ्तार कर लिया गया। बता देगी बालकिशन चौबे उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में स्थित अजनर थाने के ग्राम खमा का निवासी है। मध्यप्रदेश में आकर अपराध करता है और फिर उत्तर प्रदेश में जाकर छुप जाता है। पुलिस ने उसके पास से पलसर मोटरसाइकिल एक देसी अवैध पिस्तौल और तीन कारतूस जबकि हैं।