सांसद प्रज्ञा सिंह के कारण 45 मिनट तक फ्लाइट एयरपोर्ट पर खड़ी रही | #PragyaThakur
       
        Loading...    
   

सांसद प्रज्ञा सिंह के कारण 45 मिनट तक फ्लाइट एयरपोर्ट पर खड़ी रही | #PragyaThakur

नई दिल्ली। विमान कंपनी स्पाइस जेट और सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बीच हुए विवाद के मामले में स्पाइस जेट अपना बयान जारी किया है। स्पाइसजेट ने बताया कि सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के कारण दिल्ली में फ्लाइट 45 मिनट एयरपोर्ट पर खड़ी रही। बता देंगे जब फ्लाइट के दूसरे पैसेंजर या मांग करना शुरू कर दिया कि सांसद प्रत्याशी को उतारा जाए तब वह यात्रा करने के लिए राजी हुई।

विमानन कंपनी स्पाइस जेट ने कहा कि शनिवार को दिल्ली-भोपाल उड़ान में भोपाल की सांसद प्रज्ञा व्हीलचेयर पर थीं। एयरलाइन के प्रवक्ता ने कहा कि कुछ परेशान यात्रियों ने प्रज्ञा ठाकुर से उनकी सीट इमरजेंसी कतार से बदल कर नॉन-इमरजेंसी कतार में लेने का आग्रह किया। इमरजेंसी कतार की सीटें व्हीलचेयर वाले यात्रियों को आवंटित नहीं होती हैं। जब वह सीट बदलने के लिए तैयार नहीं हुईं तो अन्य यात्रियों ने क्रू से उन्हें विमान से उतार देने का आग्रह किया। लेकिन बाद में वह मान गईं और नॉन-इमरजेंसी कतार में अपनी सीट लीं। इस विवाद के कारण उड़ान में करीब 45 मिनट की देरी हुई। 

स्पाइस जेट का यह स्पष्टीकरण सांसद की शिकायत के अगले दिन आया है। उनकी शिकायत थी कि उन्हें उनकी बुक कराई गई सीट नहीं दी गई। प्रज्ञा ठाकुर ने उड़ान संख्या एसजी2489 में सीट नंबर 1ए बुक कराई थी और वह शनिवार को अपनी व्हीलचेयर से दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंची थीं। भोपाल पहुंचने पर पत्रकारों ने जब प्रज्ञा से संपर्क किया तो उन्होंने आरोप लगाया कि एयरलाइंस के स्टाफ ने उनके साथ उचित व्यवहार नहीं किया। प्रज्ञा ने कहा- 'उन्होंने मुझे मेरी बुक कराई सीट नहीं दी। 

स्टाफ को यह मालूम नहीं था

स्पाइस जेट के प्रवक्ता ने बताया कि दिल्ली-भोपाल उड़ान का संचालन बाम्बार्डियर क्यू400 से होता है। इस विमान में पहली कतार इमरजेंसी सीटों की होती है और व्हीलचेयर वाले यात्रियों को ये आवंटित नहीं की जाती हैं। चूंकि भाजपा सांसद अपनी व्हीलचेयर से आई थीं और उन्होंने अपना टिकट एयरलाइन के जरिए बुक नहीं कराया था, इसलिए स्टाफ को यह मालूम नहीं था कि वह व्हीलचेयर वाली यात्री हैं।

प्रवक्ता ने कहा कि उनसे क्रू सदस्यों ने नॉन-इमरजेंसी सीट ए/बी 2 पर शिफ्ट होने को कहा लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। ड्यूटी मैनेजर तथा अन्य स्टाफ ने भी उनसे अन्य सीट लेने का आग्रह किया। इसके बाद सांसद ने निकास द्वार संबंधी नियम बताने कहा और स्थिति स्पष्ट करने के लिए उन्हें यह दिखाया भी गया।

परेशान यात्रियों ने भी सांसद से सीट बदलने का आग्रह किया

इस विवाद के कारण उड़ान में देरी हो रही थी, इसलिए कुछ परेशान यात्रियों ने भी सांसद से सीट बदलने का आग्रह किया। इसके बाद कुछ यात्रियों ने उन्हें विमान से उतारने का भी आग्रह किया। आखिरकार वह अपनी सीट 1ए से बदलकर 2बी लेने को राजी हुईं और फिर विमान उड़ान भर सका। यात्रियों को हुई असुविधा के लिए हमें खेद है। लेकिन स्पाइस जेट में हमारे यात्रियों की सुरक्षा सर्वोपरि है।


देरी मेरी वजह से नहीं स्पाइट जेट के कर्मचारियों की वजह से हुई

सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने फ्लाइट के अंदर का वीडियो वायरल होने के बाद अपनी सफाई दी। उन्होंने कहा कि मेरी ए-1 सीट थी इसके बाद मुझे फ्लाइट में बोला गया कि ये इमरजेंसी सीट है आप पीछे बैठिए। इस पर मैंने उनसे रूलबुक मांगी तो स्पाइस जेट के क्रू सदस्य बहाने बनाने लगे। वो रूलबुक नहीं ला रहे थे। इस दौरान लोग मुझसे आकर देरी की बात कहने लगे। लेकिन देरी मेरी वजह से नहीं स्पाइट जेट के कर्मचारियों की वजह से हुई। जब मुझे ए-1 सीट दी जा रही थी तब क्यों नहीं कहा गया कि यहां इमरजेंसी सीट है। सांसद ने कहा कि इस दौरान एक व्यक्ति ने मुझसे बत्तमीजी से बात की थी। लेकिन मैंने उन्हें भी यही समझाया कि देरी मेरी वजह से नहीं विमान कंपनी के कर्मचारियों से हो रही है। मैंने उन्हें यह भी कहा कि अपनी भाषा पर ध्यान दें।