Loading...

MAP-IT ने सिर्फ सहायक प्रबंधकों का वेतन बढ़ाया, शेष के साथ अन्याय

महोदय जी, माननीय मुख्यमंत्रीजी की घोषणा एवं निर्देशों के बावजूद विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग अंतर्गत DEGS में पदस्थ संविदा कर्मियों को संविदा नीति के अनुसार 90% वेतन का लाभ प्राप्त नहीं हो रहा है। भोपाल में संपर्क करने पर जानकारी प्राप्त हुई है कि आपको लाभ नहीं दिया जा सकता। 

मानदेय पुनरीक्षित करने की बात कही थी

यहां ध्यान देने योग्य बात यह है कि DEGS में विभिन्न पदों की स्थापना कैबिनेट मीटिंग के निर्णय के माध्यम से स्वीकृत किए जाकर मैपआईटी को दिशा निर्देश दिए गए थे। विभाग के कर्मचारियों को संविदा नीति का लाभ न दिया जाकर मानदेय पुनरीक्षण किया जा रहा है। जिसमें अलग-अलग कर्मचारियों को अलग-अलग मानदेय वृद्धि की जा रही है। उक्त संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को बार बार सूचित किया जा रहा हैं किंतु सम्बंधित कुछ भी करने को तैयार नहीं हैं जिससे विभाग की कार्यवाही और गतिविधियां शक के घेरे में हैं।

MAP-IT ने सहायक प्रबंधक का वेतन दोगुना कर दिया, शेष को 100-200 रुपए बढ़ाया

MAP-IT के द्वारा जिला ई गवर्नेंस सोसाइटी के कर्मचारियों का वेतन पुनरीक्षण में केवल एक पोस्ट सहायक प्रबंधक (AeGM) का वेतन 15 हजार से 30 हजार किया जा रहा है जो कि 100% वृद्धि  हैं। बाकी के पदों पर वेतन 40% ही बढ़ाया गया। लेखापाल और कार्यालय सहायक जिनका वेतन 9000 और 9800 हैं उनका भी 100% नही बढ़ाया गया जबकि उनकी Salary AeGM से भी कम हैं।

केवल AeGM की वेतनवृद्धि ही क्यों, जांच की जरूरत है

अतः इस प्रकार वेतन वृद्धि केवल AeGM की ही की जा रही है जो कि समझ से परे और संदेहास्पद हैं इसकी उचित जांच और निरीक्षण की आवश्यकता हैं। 2012 मे पदस्थ DeGM को इस वेतन वृद्धि से कोई लाभ नही हो रहा है। ठीक उसी प्रकार 2014 में पदस्थ वरिष्ठ प्रशिक्षक एवं प्रशिक्षक को वेतन वृद्धि से वेतन भी नही बढ़ रहा और 1 january से लागू होने से 2020 का इन्क्रीमेंट भी नही मिल रहा। इस प्रकार Salary Revision से वेतन भी नही बढ़ रहा और मार्च अप्रैल मई में मिलने वाला इन्क्रीमेंट भी नही मिलेगा। 
एक कर्मचारी