Loading...

मंत्रियों की औकात क्या है, उनके बयान पर क्या प्रतिक्रिया दें: कैलाश विजयवर्गीय | INDORE POLITICS NEWS

इंदौर। कैलाश विजयवर्गीय मध्यप्रदेश की राजनीति के केंद्र में आते जा रहे हैं। सरकार से उनकी सीधी टक्कर चल रही है। कल कैलाश ने कमलनाथ को जालसाज सरकार का मास्टर माइंड कहा था। मंत्री सज्जन वर्मा ने कैलाश को घोटालेबाज कहा तो प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मंत्रियों की औकात क्या है, उनके बारे में क्या प्रतिक्रिया दें। जिनकी औकात होती है उनके बारे में प्रतिक्रिया दी जाती है।

कल सरकार को जालसाज और कमलनाथ को मास्टरमाइंड कहा था

आपको बता दें कि कांग्रेस ने वादा किया था कि वो एक लीटर दूध पर 5 रुपए की सब्सिडी देगी, लेकिन अब तक एक भी दूध विक्रेता को सब्सिडी नहीं दी गई है।बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कल उज्जैन में कहा था कि मध्य प्रदेश जालसाज सरकार के मास्टरमाइंड कमलनाथ हैं। ये लूली-लंगड़ी और अपाहिज सरकार ज्यादा दिनों तक चलने वाली नहीं है। 

कैलाश विजयवर्गीय से बड़ा जालसाज कोई नहीं

इस बयान पर पलटवार करते हुए राज्य के पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि पिता-पुत्र दोनों बौखला गए हैं। बेटा कह रहा है कि वो खाली हाथ नहीं चलता और पिता कह रहे हैं कि हम सरकार गिरा देंगे। सरकार जालसाज है, लेकिन कैलाश विजयवर्गीय से बड़ा जालसाज प्रदेश में कोई नहीं है। तुमने तो मजलूमों और वृद्धों का पैसा खाया है, जनता कभी माफ नहीं करेगी। इंदौर के पेंशन घोटाले की सरकार ने फाइल तैयार कर ली है, लिहाजा अब कभी भी कैलाश को लोहे के कड़े पहनाए जा सकते हैं।

7000 करोड़ कैसे पी गई, उसका हिसाब

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने आज फिर कमलनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए नया आरोप लगा दिया। उन्‍होंने कहा कि मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार दूध वालों की 7 हजार करोड़ की सब्सिडी पी गई है। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में वादा किया था कि दूध पर 5 रुपए लीटर की सब्सिडी दी जाएगी, लेकिन पिछले 11 महीने में एक भी दूध विक्रेता को सब्सिडी का लाभ नहीं मिला। प्रदेश में प्रतिदिन 3 करोड़ साठ लाख लीटर दूध का उत्पादन होता है और 5 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से 18 करोड़ रुपए प्रतिदिन किसानों को देना चाहिए। जबकि एक महीने में पांच सौ चालीस करोड़ रुपए किसानों को बंटना चाहिए लेकिन 11 महीने के सात हजार करोड़ रुपए कमलनाथ पी गए। इसके अलावा न एक भी बेरोजगार को बेरोजगारी भत्ता मिला और ना ही एक भी किसान का दो लाख रुपए कर्जा माफ हुआ। ये 420 सरकार है। जनता से झूठे वादे करके सत्ता हथियाई है। इन पर मुकदमा दर्ज होना चाहिए।

मैं भी खाली हाथ नहीं चलता

पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के लोहे के कड़े पहनाने के बयान पर बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मंत्रियों की औकात क्या है, उनके बारे में क्या प्रतिक्रिया दें। जिनकी औकात होती है उनके बारे में प्रतिक्रिया दी जाती है। जबकि अपने बेटे आकाश विजयवर्गीय के धमकी वाले बयान पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मैं भी खाली हाथ नहीं चलता। मेरे हाथ में कागज होता है। हंसते हुए उन्होंने ये जवाब दिया। उधर, कैलाश विजयवर्गीय ने मुख्यमंत्री कमलनाथ की दुबई यात्रा पर चुटकी लेते हुए कहा कि हमारा तीर्थ बद्रीनाथ, केदारनाथ है, लेकिन विपक्ष का तीर्थ थाईलैंड हैं इसलिए राहुल गांधी वहां यात्रा पर जाते हैं।