Loading...

उड़ता ग्वालियर: हत्याकांड का कारण स्मैक, तोमर तो बेवजह मारा गया | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। शहर में स्मैक का कारोबार तेजी से फल फूल रहा है। पुलिस अधिकारियों को जानकारी होने के बावजूद भी इसे रोकने और इसकी धरपकड़ के लिए कोई भी अभियान नहीं चलाया जा रहा है। नशे के इस कारोबार में युवा वर्ग ज्यादा चपेट में आ रहा है इसके लिये नशे के आदी चोरी और लूट जैसी वारदातें कर रहे हैं। वहीं लेनदेन के विवाद पर खून खराबा भी हो रहा है। इसी विवाद में सोमवार को कोतवाली क्षेत्र में दानाओली इलाके में एक सुरक्षा गार्ड ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक का साथी भी गोली लगने से घायल हो गया। घायल युवक का नाम बालेन्दु शर्मा बताया गया है और यह भी नशे का आदी बताया गया है। इसका गोली चलाने वाले सिक्युरिटी गार्ड अक्कू उर्फ रवि शर्मा के भतीजे से स्मैक के लेनदेन का विवाद था और इसी में गार्ड के घर के बाहर मृतक कवि तोमर और बालेन्दु उसके भतीजे को धमकाने आये थे।


यह लोग जब आपस में गालीगलौच कर रहे थे तब गार्ड अपने घर में सो रहा था। बाहर से शोर शराबे की आवाज सुनकर वह अंदर से अपनी 12 बोर की बन्दूक लेकर आया और बालेन्दु को निशाना बनाकर गोली चला दी। उसकी किस्मत अच्छी थी और गोली न लगते हुए एक छर्रा उसके कान को छूकर निकल गया। गोली चलते ही बालेन्दु मौके से भाग गया। तभी पास में ही बाइक से खड़ा उसका साथी कवि तोमर भागने का प्रयास करने लगा उसे देककर गार्ड ने दूसरा राउण्ड निशाना लगाकर फायर किया जो मृतक के सिर में लगा और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। गोलीबारी की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायल व मृतक को अस्पताल पहुंचाया। आरोपी गार्ड व उसके भतीजों को पुलिस ने गिरप्तार कर लिया है उनसे बंदूक भी बरामद कर ली है।

शहर में स्मैक के कारोबार को लेकर आये दिन खून खराबा होता रहता है। स्मैक पीने के आदी चोरी और लूट के साथ-साथ इस तरह की गंभीर वारदात को भी अंजाम दे रहे हैं। इसी साल स्मैक के नशे की लत के चलते शहर में आधा दर्जन लोगों की हत्या हो चुकी है। वहीं वाहन चोरी और चेन लूट की घटनाओं में भी स्मैक का नशा करने वालों के शामिल होने के पुख्ता सबूत भी पुलिस को मिल रहे हैं। मगर पुलिस अधिकारियों की मिली भगत तथा कुछ पुलिस कर्मियों के निजी स्वार्थ के चलते यह कारोबार शहर में तेजी से फल फूल रहा है।