Loading...

नो एन्ट्री में घुसा ट्रक: SI लाइन अटैच, 4 सिपाही सस्पेंड, 4 थाना प्रभारियों को नोटिस | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। शहर में नो एण्ट्री के दौरान लेनदेन कर भारी वाहन को प्रवेश कराने पर एसपी ने चार थाना प्रभारी, एक दरोगा सहित पांच जवानों के खिलाफ कार्रवाई की है। थाना प्रभारियों को तीन दिन में जवाब देने के साथ ही एसआई को लाइन अटैच और जवानों को सस्पेंड कर दिया है। नो एण्ट्री में घुसे ट्रक से एक बड़ा हादसा होते हुए बचा था। 

पब्लिक ने पकडकर ड्राइवर को पीटा था

एसपी नवनीत भसीन ने बताया कि मोतीझील से ट्रक क्रमांक आरजे 11 जीबी 2844 ने नो एण्ट्री में प्रवेश किया था। यह वाहन मोतीझील, रेशमपुरा, गोल पहाडिय़ा होते हुए गिरवाई की तरफ जा रहा था। जब ट्रक गोल पहाडिय़ा पहुंचा तो एक हादसा हो गया था। जिस पर नाराज जनता ने चालक की मारपीट कर दी थी। इस मामले में पुलिस जवान मनीष शर्मा, गौरव भदौरिया थाना जनकगंज व दिनेश गुर्जर, जावेद खान थाना बहोड़ापुर तथा ध्यानेन्द्र गुर्जर थाना पुरानी छावनी (Manish Sharma, Gaurav Bhadoria police station Janakganj and Dinesh Gurjar, Javed Khan Police Station, Bahodapur and Dhyanendra Gurjar Police Station, Old Cantonment)को निलंबित कर दिया है। 

वहीं गोल पहाडिय़ा बीट प्रभारी एसआई अमर सिंह बिजपुरिया को लाइन अटैच किया है। वहीं थाना प्रभारी पुरानी छावनी केपीएस यादव (KPS Yadav), जनकगंज थाना प्रभारी ज्ञानेन्द्र सिंह(Gyanendra Singh), बहोड़ापुर थाना प्रभारी वायएस तोमर (YS Tomar) तथा गिरवाई थाना प्रभारी वेदेन्द्र सिंह (Vedendra Singh) से तीन दिन में जवाब मांगा गया है।

डायल 100 ने रिश्वत लेकर एंट्री दे दी थी

ट्रक मोतीझील से चलकर गोल पहाडिय़ा तक पहुंचा था, इस दौरान उसे मोतीझील तिराहे पर बहोड़ापुर एफआरवी, रेशमपुरा पर एफआरवी पुरानी छावनी तथा गोल पहाडिय़ा पर जनकगंंज एफआरवी मिली थी। जिससे इन डायल 100 पर तैनात जवानों को भूमिका में प्रलोभन की बात की पुष्टि होती है।