Loading...

अतिथि शिक्षक नियमितिकरण: आयुक्त मेडम के पत्र का सरल उत्तर ये रहा | ATITHI SHIKSHAK NIYAMITIKARAN

कैलाश विश्‍वकर्मा। अतिथि शिक्षकों का नियमितिकरण व अनुभव प्रमाण पत्र जल्‍द बनाने के संबंध में अतिथि शिक्षक विगत 10 से 12 वर्षो से सताये हुए है और नियमितिकरण चाहते है। पद स्थायित्व चाहते है। इसके लिये सर्वप्रथम अनुभव प्रमाण पत्र बनाया जाये जो 6 माह से लंबित है। अतिथि शिक्षकों का कहना है कि अनुभव के आधार पर विभागीय परीक्षा लेकर सरकार हमें वर्तमान मानदेय पर रखे हम तीन वर्ष तक इसी मानदेय पर सेवा देने तैयार है।

लोक शिक्षण संचालनालय से आयुक्‍त मेडम द्वारा जारी पत्र क्रमांक रामाशिअ/ अतिथि शिक्षक/2019/2868 दिनांक 11/09/2019
इस पत्र में नियमितिकरण के लिये राष्ट्रीय अध्‍यापक शिक्षा परिषद के नियमों का हवाला दिया गया है। जिसमें कहा गया है कि शिक्षक की नियुक्ति हेतु निम्‍न योग्‍यता होना अनिवार्य है-
बिन्‍दु (अ) आवेदक प्रशिक्षित (D.Ed/ B.Ed) हो। 
मान्‍यवर जो अतिथि शिक्षक प्रशिक्षित है उन्‍हें नियमित किया जाये एवं जो अप्रशिक्षिति है उन्‍हें तीन वर्ष का समय प्रशिक्षण के लिये दिया जाये और उन्‍हें नियमित किया जाए। 
बिन्‍दु (ब) आवेदक शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्‍तीर्ण हो। 
इस बिन्‍दु के अनुसार अतिथि शिक्षकों की विभागीय पात्रता परीक्षा लेकर नियमित किया जाए। 

मान्‍यवर, समय समय पर सभी ने अतिथि शिक्षक को नियमित करने की बात कही किन्‍तु न ही अनुभव प्रमाण पत्र जारी हुआ न ही अति‍थि नियमित हुये। अतिथि शिक्षक हमेशा ही अंधेरे में रहा। आपने आज तक जो कहा वो कर दिखाया, इसीलिये आप पर हमें पूर्ण विश्‍वास है आप जो कहते वो करते है। आपने वचन पत्र मे में भी अतिथि नियमित करने का वचन दिया है आप विभागीय परीक्षा लेकर अतिथि शिक्षकों को नियमित करेंगे हमें पूरा विश्‍वास है। 
कैलाश विश्‍वकर्मा
अतिथि शिक्षक


जो डीएड/बीएड हैं, पात्रता परीक्षा पास भी हैं, उन्हे तो नियमित कर दो

आदरणीय महोदय जी, आज कल सोशल मीडिया मे लोकशिक्षण आयुक्‍त भोपाल का एक लेटर वायरल हो रहा है जिसमे उन्‍होने अति‍थि शिक्षकों के संबंध मे मुख्‍यमंत्री जी के पत्र का जबाब दिया है उसमे उन्‍होने बताया है कि अतिथि शिक्षकों की आनलाइन चयन प्रक्रिया को म.प्र उच्‍च न्‍यायालय ने वैध माना है ऐसे मे अतिथि शिक्षको को बिना डीएड/बीएड एवं पात्रता परीक्षा लिए नियमित नही किया जा सकता है। उस पत्र मे उन्‍होने इस बात का हवाला भी दिया है कि अतिथि शिक्षको को म.प्र शिक्षक भर्ती परीक्षा मे 25% का आरक्षण भी दिया जा चुका है जिसकी भर्ती प्रक्रिया अभी वर्ग 2 का रिजल्‍ट न आने एवं आरक्षण संबंधी नवीन नियमों से उलझन मे है अत: महोदय से निवेदन है कि जो अतिथि शिक्षक विगत 5-10 वर्षों से शासकीय विधालयों मे सेवा दे रहे है और डीएड/बीएड कर चुके है व 2005,08,11 पात्रता परीक्षा पास है व वर्तमान आनलाइन प्रक्रिया मे भी चयनित है ऐसे अतिथि शिक्षकों को पुरानी पात्रता परीक्षा एवं डीएड/बीएड के आधार पर तत्‍काल नियम बनाकर नियमित करें।

सादर धन्‍यवाद
आपका
आशीष कुमार बिरथरिया
उदयपुरा जिला रायसेन