Loading...

VETERINARY UNIVERSITY के छात्र भूख हड़ताल पर, विरोध प्रदर्शन सरकार की अर्थी निकाली

जबलपुर। मध्य प्रदेश की एकमात्र वेटरनरी विश्वविद्यालय (Veterinary University) के छात्रों ने राज्य सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए सरकार की अर्थी निकाली है। उनका आरोप है कि छात्रों के हित में सरकार कोई निर्णय नहीं ले रही है। उन्होंने कहा कि जब तक हमारी मांगे नहीं मानी जाती हमारा आंदोलन और अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल जारी रहेगी। जबलपुर साथ महू और रीवा वेटरनरी कॉलेज के छात्रों ने भी प्रदर्शन किया है। भूख हड़ताल (hunger strike) पर बैठे छात्रों ने बताया कि MP में पशु चिकित्सकों (Veterinarians) की कमी है। वर्तमान में 1200 पशु चिकित्सक बेरोजगार घूम रहे है, इसके बाद भी सरकार ध्यान नहीं दे रही है, सरकार द्वारा उचित निर्णय नहीं लिया गया तो और उग्र आंदोलन किया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक, जबलपुर वेटनरी विश्वविद्यालय के अंतर्गत पशु चिकित्सा विज्ञान महाविद्यालय (Veterinary Science College) के छात्रों द्वारा पशु चिकित्सकों की भर्ती को लेकर लगातार सरकार तक अपनी आवाज पहुंचाई जा रही है लेकिन इस दिशा में सरकार ने कोई कदम नहीं उठाए, इससे गुस्साए छात्रों ने पहले धरना प्रदर्शन किया था। इसके बाद भी जब सरकार ने उनकी बात नहीं सुनी तो गुरुवार को 11 छात्रों का एक जत्था वेटनरी कालेज के सामने भूख हड़ताल पर बैठ गया। इसके पहले छात्रों ने सरकार की अर्थी रैली निकाली, जो शहर के अलग-अलग मार्गो से होते हुए वेटनरी अस्पताल में समाप्त हुई। 

राज्य सरकार कृषि आयोग की अनुशंसा को देखे तो प्रदेश में 07 हजार वेटनरी डॉक्टरों (DOCTOR) की आवश्यकता है लेकिन अभी यह संख्या 1671 ही है, जिसे बढ़ाया जाए, इसके साथ ही बीते 5 सालों से पशु चिकित्सकों की रिक्त पदों पर भर्तियां नहीं हुई हैं। ऐसे में हर साल खाली पड़े पदों के अनुसार भर्ती प्रक्रिया अपनाई जाए, ताकि ज्यादा वेटनरी चिकित्सकों को नौकरी मिल सके। 

भूख हड़ताल पर बैठे छात्रों ने यह भी जानकारी दी कि एमपी में पशु चिकित्सकों की कमी है और वर्तमान में 12 सौ पशु चिकित्सक बेरोजगार घूम रहे है, इसके बाद भी सरकार ध्यान नहीं दे रही है, उचित सरकार द्वारा उचित निर्णय नहीं लिया गया तो और उग्र आंदोलन किया जाएगा।