Loading...

हनी ट्रैप के 15 शिकार: पूर्व राज्यपाल, पूर्व मुख्यमंत्री, मंत्री, पूर्व मंत्री, पूर्व सांसद... | Honey Trap Victims List

भोपाल। मध्य प्रदेश के हाईप्रोफाइल नेता, अफसर एवं कारोबारियों को हनी ट्रैप में फंसाकर ब्लैकमेल करने वाले रैकेट के राज खुलाना शुरू हो गए हैं। इस मामले में अब तक 6 बड़े नेता, 4 IPS, 5 IAS अफसरों के नाम इस रैकेट के शिकार हुए लोगों की लिस्ट में सामने आ चुके हैं। यह सिलसिला जारी है। नेताओं में एक पूर्व राज्यपाल, एक पूर्व मुख्यमंत्री, दो पूर्व मंत्री, एक पूर्व सांसद, एक पार्टी के संगठन के बड़े नेता शामिल हैं। 

लिस्ट में इनके नाम हैं प्रमुख

पूर्व राज्यपाल - महिला का एनजीओ के काम से राज्यपाल के पास आना-जाना था।
पूर्व मुख्यमंत्री - हनी ट्रैप में फंसने के बाद मामले में सेटलमेंट के लिए एक महिला को मकान दिया था।
मौजूदा मंत्री - रंगीन मिजाज की वजह से जाने जाते हैं... महिला का इनके पास आना जाना था।
2 पूर्व मंत्री - एनजीओ के काम से आने-जाने की वहज से पहचान हुई। कई सरकारी प्रोजेक्ट भी दिलाए।
पूर्व सांसद - हनी ट्रैप का शिकार होने के बाद महिला को बड़ी रकम दी थी।
बड़े नेता - एक राजनैतिक पार्टी संगठन के बड़े नेता हैं। पार्टी के कई नेताओं के साथ नौकरशाहों से मुलाकात में मदद की।

डीजी रैंक के अधिकारी - बड़े पद पर हैं। लूप लाइन में लंबे समय तक रहने के दौरान हनी ट्रैप में फंसे थे।
एडीजी रैंक के अधिकारी - एक शाखा में लंबे समय से पदस्थ हैं। सांस्कृतिक कार्यक्रम के चलते महिला से पहचान हुई।
5 आईएएस अधिकारी- मंत्रालय में एनजीओ के काम से बार-बार जाने की वजह से पहचान हुई। इनमें से कई अफसर फील्ड में पदस्थ हैं।