Loading...    
   


MPPSC: असिस्टेंट प्रोफेसर पदस्थापना प्रक्रिया शुरू

भोपाल। पीएससी से चयनित सरकारी कॉलेजों के असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति से स्टे हटने के साथ ही उच्च शिक्षा विभाग ने पदस्थापना देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। विभाग ने इस संबंध में गुरुवार को पदस्थापना देने के संबंध में गाइडलाइन जारी कर दी। विवादों से बचने के लिए विभाग ने तय किया है कि पोर्टल के जरिए ऑनलाइन पदस्थापना दी जाएगी। इस प्रक्रिया के बारे में विभाग चयनित असिस्टेंट प्रोफेसरों को मोबाइल पर एसएमएस के जरिए भी सूचना देगा।

चयनित असिस्टेंट प्रोफेसरों को पोर्टल के जरिए पदस्थापना के लिए ऑनलाइन विकल्प देना होगा। चयनित असिस्टेंट प्रोफेसरों से च्वॉइस फिलिंग के समय हिंदी में उनका नाम और पता भी दर्ज कराया जाएगा। इसे ही नियुक्त आदेश में दर्ज किया जाएगा। यदि चयनित असिस्टेंट प्रोफेसरों द्वारा पदस्थापना के लिए कोई एक कॉलेज ही पसंद के तौर पर लॉक किया जाता है या एक भी कॉलेज लॉक नहीं किया जाता है तो उनकी पदस्थापना के संबंध में निर्णय राज्य शासन लेगा।

जिन चयनित असिस्टेंट प्रोफेसरों का वेरिफिकेशन हो चुका है और यदि उसमें कोई कमी नहीं पाई गई है तो वे ही उम्मीदवार पहले दौर में ऑनलाइन विकल्प का चयन कर सकेंगे। ऑनलाइन च्वाइस फिलिंग की प्रक्रिया पूरी कराने के लिए आयुक्त उच्च शिक्षा सक्षम अधिकारी रहेंगे। पदस्थापना ग्रहण करने के साथ ही संबंधित कॉलेज के प्राचार्य पोर्टल पर उनकी उपस्थिति दर्ज करेंगे। यदि तय समय में असिस्टेंट प्रोफेसर पदस्थापना वाले कॉलेज में पदभार ग्रहण नहीं करता है तो सप्लीमेंट्री सूची जारी कर ऐसे कॉलेजों में दूसरे असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति की जाएगी।

विभाग ने उच्च शिक्षा आयुक्त को निर्देश दिए हैं कि कॉलेजों की आवश्यकता के अनुसार रिक्त पदों को चि-त किया जाए। इस दौरान रूसा, विश्व बैंक परियोजना और प्रशासनिक दृष्टिकोण को ध्यान में रखा जाए। लोक सेवा आयोग की संशोधित सूची में जो असिस्टेंट प्रोफेसरों के नाम जुड़े हैं, उनको पदस्थापना वेरिफिकेशन के बाद दी जाएगी।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here