Loading...

भरे मंच पर CM कमलनाथ के खिलाफ खड़े हो गए कांग्रेस MLA आरिफ मसूद

भोपाल। सीएम कमलनाथ ने भोपाल में मेट्रो रेल का शिलान्यास किया, लेकिन यह भोपाल मेट्रो के बजाए भोज मेट्रो कहलाएगी। सीएम कमलनाथ ने मेट्रो का नाम राज भोज के नाम पर रखने का ऐलान किया। सीएम के ऐलान के साथ ही उन्हीं के विधायक आरिफ मसूद ने इस नाम पर विरोध जता दिया।

सीएम कमलनाथ ने 11 पंडितों की मौजूदगी में मंत्रोच्चार और पूजा अर्चना के बाद मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया। इसी के साथ मेट्रो ट्रेन का काम शुरू हो जाएगा। सीएम कमलनाथ ने प्रोजेक्ट की शुरुआत करते हुए कहा कि आज बेहद खुशी का दिन है। भोपाल ही नहीं प्रदेश का इतिहास बनने जा रहा है। उन्होंने कहा वर्ष 1991 में भोपाल में कोई सुख-सुविधाएं नहीं थीं। अपनी जवानी में हमने यहां गंदी लेक देखी थी। कोई सड़क यहां नहीं थी। उस समय केंद्र में पर्यावरण मंत्री था, तब मैंने भोपाल को संवारने के लिए पैसा दिया था। आज जब शान से लोग भोपाल की लेक दिखाते हैं तब मुझे अपनी जवानी याद आती है।

बाबूलाल गौर को याद किया

सीएम ने पूर्व सीएम बाबूलाल गौर को याद किया। उन्होंने कहा, 'मैं जब जयपुर गया था, तब मैंने एमपी के तत्कालीन मंत्री बाबूलाल गौर को फोन कर बोला था भोपाल में मेट्रो चलवाएं।' सीएम ने बताया कि वह जब केंद्र में थे तब मेट्रो के लिए पैसा आया था। उन्होंने महापौर आलोक शर्मा से कहा कि दिल्ली जाकर मेट्रो के लिए पैसा लाएं। जितनी जल्दी पैसा आएगा उतनी जल्दी काम होगा।

महान इंदिरा गांधी के बारे में न बताई गयी सच्चाई

सीएम कमलनाथ ने भविष्य के मध्य प्रदेश और भोपाल के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा कि हम अपने बच्‍चों को कैसा भोपाल सौंपेंगे, यह सोचकर भविष्य का प्लान बनाएं।

भोपाल विधायक आरिफ मसूद ने किया विरोध

सीएम कमलनाथ के भोपाल मेट्रो के भोज मेट्रो नामकरण का कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने विरोध जता दिया. उन्होंने कहा कि भोपाल मेट्रो को भोपाल मेट्रो ही रहने दिया जाए, क्‍योंकि राजा भोज के नाम पर बहुत कुछ हो चुका है. कुछ तो भोपाल का रहने दीजिए.