Loading...    
   


भवन किराए की फाइल से मंत्री जी का कोई सरोकार नहीं है: टूरिज्म बोर्ड | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड भोपाल ने 'RTI लगाई तो मंत्रीजी ने भ्रष्टाचार की फाइल बंगले में छुपा ली' आरोप को अनुचित करार देते हुए कहा है कि पर्यटन मंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल हनी का इस मामले से कोई सरोकार नही है। 

मामला क्या है

आरटीआई कार्यकर्ता अजय दुबे ने पर्यटन मंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल हनी पर आरोप लगाया था कि लिली टावर मे मप्र पर्यटन बोर्ड मुख्यालय के 7 लाख के किराये और शाही साज सज्जा मामले में गड़बड़ी का संदेह है। आरटीआई कार्यकर्ता अजय दुबे का कहना है कि यह भ्रष्टाचार शिवराज सिंह चौहान सरकार के समय हुआ था। मैंने आरटीआई के तहत मार्च 2019 मे पूछा तो विभाग ने अपैल में बताया की फाइल मंत्री बंगले पर है। फिर अगस्त मे पता करने पर सूचना मिली कि फाइल मंत्री बंगले पर कैद है। आरटीआई कार्यकर्ता अजय दुबे का आरोप है कि पर्यटन मंत्री सुरेंद्र सिंह बघेल हनी भ्रष्टाचार को संरक्षण देने के लिए जानकारी छुपा रहे हैं। 

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड ने वस्तुस्थिति स्पष्ट की

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड भोपाल द्वारा इस मामले में वस्तुस्थिति स्पष्ट की है। बताया है कि श्री अजय दुबे द्वारा मार्च 2019 में सूचना के अधिकार के तहत 07 बिन्दु पर चाही गयी जानकरी के तहत अप्रैल 2019 में उनके अवलोकन के उपरत 103 पृष्ठ की जानकारी उपलब्ध करायी गयी थी। मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड के भवन किराये से संबंधित नस्ती प्रशासनिक प्रक्रियाधीन होने से श्री दुबे को शेष जानकारी तत्समय उपलब्ध नहीं करायी जा सकी। अतएव प्रकाशित समाचार कि "भ्रष्टाचार की फाईल बंगले में छुपा ली" उचित नहीं है। मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड कार्यालय भवन किराये पर लेने संबंधी प्रकरण 2017 का है। इससे वर्तमान के विभागीय माननीय मंत्री जी का कोई सरोकार नहीं है। 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here