Loading...

GWALIOR NEWS : महिला आरक्षक रेनू जाट की मां ने सुसाइड किया

ग्वालियर। बीमारी से परेशान महिला आरक्षक की मां ने फांसी लगा ली। घटना जनकगंज थाना परिसर स्थित सरकारी क्वॉर्टर की है। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और महिला को उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जनकगंज थाना प्रभारी ज्ञानेन्द्र सिंह ने बताया कि महिला आरक्षक रेनू जाट थाने में पदस्थ है और थाना परिसर स्थित सरकारी क्वॉर्टर में मां कश्मीरी जाट (51) तथा भाई पुष्पेन्द्र जाट के साथ रहती है। 

मां की तबियत काफी समय से खराब चल रही थी और गठिया बाय के चलते चलने में भी असमर्थ थी। वह सरक-सरक कर सीढिय़ों के पास पहुंची और दुपट्टे का फंदा बनाकर सरक गई। हादसे का पता चलते ही परिजनों ने पुलिस को सूचना दी और उन्हें लेकर अस्पताल पहुंचे। जहां पर डॉक्टरों ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया। महिला की मौत का पता चलते ही पुलिस मौके पहुंची और जांच के बाद मर्ग कायम कर शव को पीएम हाउस भेज दिया। 

बंटी बाजार से वापस आया तो फांसी पर झूल गया

थाटीपुर थाना प्रभारी शैलेन्द्र भार्गव ने बताया कि थाना क्षेत्र के प्रजापति मंदिर के पास बंटी (30) पुत्र रमेश सिंह प्रजापति प्रायवेट जॉब करता है। वह मार्केट से वापस आया और अपने कमरे में चला गया। कुछ देर बाद जब उसकी मां उसे खाना खाने के लिए बुलाने पहुंची तो कमरा अंदर से बंद था। काफी देर खटखटाने के बाद भी जब अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो उन्होंने खिडक़ी से झांका तो अंदर बंटी साड़ी के फंदे से झूलता दिखा। 

बेेटे को फांसी के फंदे से झूलते देखकर उन्होंने शोर मचाया और पड़ोसियों की मदद से दरवाजा तोडक़र उसकी नब्ज टटोली तो वह दम तोड़ चुका था। मामले का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच के बाद मर्ग कायम कर शव को पीएम हाउस भेज दिया। परिजनों ने बताया कि तीन साल पहले मृतक की पत्नी पूनम की मौत हो चुकी है और उसकी एक चार साल की बेटी है।