BHOPAL में 1 दिन पहले आ गए बदला, ईद की 3 बार बधाई बरसा चुके हैं

भोपाल। बंगाल की खाड़ी से पानी भरकर आए बादल 1 दिन पहले ही भोपाल पहुंच गए। सुबह सुबह उन्होंने ईद की नमाज पूरी होने का इंतजार किया। उसके बाद से शाम 5 बजे तक रुक रुककर 3 बार बधाई दे चुके हैं। सारे शहर में बारिश हो रही है। मूसलाधार बारिश की स्थिति बन गई है। 

रात भर में बड़ा तालाब का जलस्तर 0.50 फीट बढ़ गया है। शाम को जहां तालाब का जलस्तर 1666.70 फीट था, वह सुबह 1666.75 फीट हो गया। मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिमी हिस्से में कम दवाब का क्षेत्र बनने से बारिश के हालात बन रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार, आगामी 24 घंटों में राज्य के कई हिस्सों में बारिश हो सकती है। राजधानी समेत ज्यादातर शहरों में 15 अगस्त को तेज बारिश की संभावना है। 

वरिष्ठ माैसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि मंगलवार की सुबह तक बंगाल की खाड़ी में लाे प्रेशर एरिया बन रहा है। बीते 24 घंटों के दौरान राज्य के कई हिस्सों में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ी हैं। राज्य में हुई बारिश ने गर्मी और उमस से राहत दिलाई है। 

सोमवार को भोपाल का न्यूनतम तापमान 23.2 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का 22, ग्वालियर का 25.5 और जबलपुर का न्यूनतम तापमान 25.4 सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, रविवार को भोपाल का अधिकतम तापमान 29.4 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का 27.4 डिग्री सेल्सियस, ग्वालियर का 29.7 डिग्री सेल्सियस और जबलपुर का अधिकतम तापमान 3.3 डिग्री सेल्सियस रहा।

सीजन की बारिश का 91% कोटा पूरा 

मानसून ने इस बार 15 जून के बजाय 28 जून को भोपाल में आमद दी। यानी 13 दिन लेट। इसके बाद भी शहर बारिश से तरबतर हो गया। अब तक कुल 12 दिन ऐसी झमाझम हुई की सीजन की कुल बारिश का 91 फीसदी कोटा पूरा हो गया। सीजन में मानसून पहुंचने के पहले दिन से लेकर अब तक जून में 2, जुलाई में 7 और अगस्त में 3 दिन मिलाकर, कुल 12 दिनों में 790.4 मिमी बारिश हुई। 

तीन साल बाद मानसून मेहरबान 

इस बार तीन साल बाद राजधानी में मानसून मेहरबान हुआ है। पिछले दो साल लगातार सीजन की बारिश का कोटा पूरा नहीं हो सका था। शहर में इसका सबसे ज्यादा असर बड़े तालाब पर भी पड़ा था। भोपाल में अब तक 986.2 मिमी बारिश हो चुकी है। यह अब तक की सामान्य बारिश से 70 फीसदी ज्यादा और सीजन की कुल बारिश 1086.6 से सिर्फ 100 मिमी कम है। 

मौसम विशेषज्ञ एसके नायक का कहना है कि अभी अगस्त बीतने में 19 दिन और सितंबर पूरा बाकी है। इन 49 दिनों में कम से कम 250 मिमी बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग द्वारा तय मापदंडों के अनुसार 650 मिमी बारिश के आंकड़े को भारी बारिश की श्रेणी में गिना जाता है।