ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग के VIP दर्शन बंद | MP NEWS

ओंकारेश्वर (खंडवा)। भगवान भोलेनाथ की नगरी में सावन लगने के साथ ही नर्मदा स्नान और भगवान ओंकारेश्वर व ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला शुरू हो गया है। 45 दिनों तक पांच लाख से अधिक श्रद्धालु ओंकारेश्वर पहुंचने का अनुमान है।

22 जुलाई को सावन के पहले सोमवार के लिए मंदिर प्रबंधन और प्रशासन तैयारियों में व्यस्त है। पूरे सावन माह और भादो के पहले पखवाड़े तक मंदिर में वीआईपी दर्शन व्यवस्था पर प्रशासन ने प्रतिबंध लगा दिया है। इसके चलते पहले सोमवार को रसूखदार लोगों को भी लाइन में लगकर दर्शन करना पड़ेगा। हालांकि इस नई व्यवस्था से अधिकारी के साथ ही जनप्रतिनिधियों को साधारण द्वार से दर्शन करवाने में प्रशासन को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।

रविवार और सोमवार को श्रद्धालुओं की काफी भीड़ जुटेगी। इसके साथ ही बड़ी संख्या में कावड़िए भी ज्योतिर्लिंग पर जल अर्पित करने पहुंचेंगे। 22 जुलाई को भोलेनाथ की पहली सवारी निकलेगी। रविवार से उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए शनिवार से ही भगवान आदिगुरु शंकराचार्य तिराहे से वाहनों के नगर प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सभी वाहनों को कुबेर भंडारी मंदिर परिसर के साथ ही अन्य स्थानों पर पार्किंग की व्यवस्था की गई है।

सोमवार को सुबह 5 बजे ही ओंकारेश्वर मंदिर के पट दर्शन के लिए खोल दिए जाएंगे। इससे पूर्व मंदिर परिसर के साथ ही गर्भगृह को फूलों से सजाया जाएगा। पूजा-अर्चना के बाद भोलेनाथ को 251 किलो पेड़े का भोग लगाया जाएगा। भगवान ओंकारेश्वर की सवारी मंदिर से शाम 4 बजे रवाना होगी जो आदिशंकराचार्य गुफा के सामने से होती हुई कोटीतीर्थघाट पर पहुंचेगी। सबसे पहले भगवान ओंकारेश्वर ज्योर्तिलिंग कि पंचमुखी रजत मूर्ति का मंदिर के पुजारियों द्वारा नर्मदा के पवित्र जल से स्नान करवाया जाएगा। इसके बाद विद्वान पंडितों द्वारा राजेश्वर दीक्षित के आचार्यात्व में सभी धामिक आयोजन संपन्न होंगे।

इसी तरह ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग की सवारी भी शाम 4 बजेे मंदिर से रवाना होकर महानिर्वाणी अखाड़ाघाट पहुंचेगी। मंदिर के पुजारी जगदीश उपाध्याय, पंडित महेश शर्मा, श्रीकांत जोशी के साथ ही अन्य पंडितों द्वारा धार्मिक अनुष्ठान संपन्न किए जाएंगे। आरती पश्चात दोनों सवारियों को नौका विहार कराया जाएगा। नगर भ्रमण पश्चात दोनों सवारियां रात्रि 9 बजे मंदिर पहुंचेगी। ओंकारेश्वर मंदिर ट्रस्ट के कार्यपालन अधिकारी पुनासा एसडीएम डॉ. ममता खेड़े, सहायक कार्यपालन अधिकारी अशोक महाजन व सवारी प्रभारी आशीष दीक्षित ने बताया कि सवारी की तैयारियां पूर्ण हो चुकी हैं।