Loading...

शिवपुरी डीईओ ने अपात्रों शिक्षकों को ब्रिज कोर्स करा दिया | MP NEWS

शिवपुरी। शिवपुरी में चल रही हाई स्कूल ब्रिज कोर्स के द्वितीय चरण की ट्रेनिंग में विषय शिक्षक न होने पर दूसरे विषय के शिक्षकों को जबरिया ट्रेनिंग कराई जा रही है। पिछले माह हुई ब्रिज कोर्स ट्रेनिंग में कई हाई स्कूलों से विषय शिक्षक नही पहुंचे थे जिसके बाद भोपाल स्तर से निर्देश जारी किए गए कि अनुपस्थित विद्यालयों के शिक्षकों की ब्रिज कोर्स ट्रेनिंग दोबारा आयोजित की जाए। 

स्कूलों में शिक्षक ही नहीं हैं
इसमें खास बात ये है कि अनुपस्थित शिक्षकों वाले विद्यालयों में से 90% विद्यालय ऐसे है जहां विषय शिक्षक पदस्थ ही नहीं है, ऐसे में ट्रैनिंग किसे दें, हालांकि भोपाल से जारी हुए एक आदेश में ऐसे विद्यालयों के लिए निर्देश था कि वहां के अतिथि शिक्षक को बाद में अगले चरण में ट्रेनिंग दी जाए परंतु शिवपुरी में आरएमएसए प्रभारी एम यू शरीफ और डीईओ हरिओम चतुर्वेदी महोदय ने स्कूल के ही दूसरे विषय के शिक्षक को जबरदस्ती ट्रेनिंग में जाने के लिए अधिकृत कर दिया। 

विज्ञान के शिक्षक को गणित, हिंदी वाले को अंग्रेजी की ट्रेनिंग दिला दी
दिए गए आदेश में ट्रेनिंग में अनुपस्थित होने पर दो दिन का वेतन काटने ओर अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की चेतावनी भी दी गई है। स्कूल के विज्ञान के शिक्षक को गणित की ट्रेनिंग दी जा रही है इसी तरह इंग्लिश का टीचर न होने पर दूसरे विषय के शिक्षक को इंग्लिश की ट्रेनिंग दी जा रही है।

विभाग ने परीक्षा लेकर वेतनवृद्धि रोक दी
ब्रिज कोर्स ट्रेनिंग के दौरान शिक्षकों की परीक्षा भी ली जा रही है जिसमें 70% से कम अंक आने पर एक वेतन वृद्धि रोकने की कार्यवाही भी भोपाल से की गई है जिसकी जद में पूरे मध्यप्रदेश के हजारों शिक्षक आये हैं। जिसकी सूची भोपाल से जारी की जा चुकी है। इस लिस्ट में सैकड़ों नाम ऐसे शिक्षकों के जुड़े हैं जो प्राथमिक विद्यालय या माध्यमिक विद्यालयों में पदस्थ हैं परंतु हाईस्कूल में शिक्षक न होने की वजह से उसका प्रभार भी वे ही उठा रहे है। ऐसे में उन्हें दंड देने घोर अन्याय है।