Loading...

BHOPAL और SAGAR में 2 इंजीनियर्स के ​यहां लोकायुक्त रेड, 1 करोड़ नगद मिले | MP NEWS

भोपाल। लोकायुक्त पुलिस (LOKAYUKT POLICE) ने लगातार दूसरे दिन इंजीनियर्स के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले में छापामार कार्रवाई की। सिंचाई विभाग के ईई सुनील व्यास के बाद आज भोपाल में पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन के इंजीनियर आरके पांडे (RK PANDEY ENGINEER POLICE HOUSING CORPORATION) और सागर में उनके भाई एनके पांडे (ENGINEER NK PANDEY) के यहां छापामार कार्रवाई की गई। दोनों के घर से अब तक 1 करोड़ रुपए नगद मिल चुके हैं। समाचार लिखने तक कार्रवाई जारी थी। 

लोकायुक्त पुलिस ने कल भोपाल में सिंचाई विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुनील व्यास के बाद आज पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन के इंजीनियर आर के पांडेय और उनके भाई एन के पांडेय के घर दबिश दी। आय से अधिक संपत्ति के मामले में पांडेय बंधु जांच के दायरे में हैं। छापे की ये कार्रवाई सागर और भोपाल में एक साथ की गयी। सुबह 4 बजे टीम ने रेड मारी।

रिश्वत लेते पकड़े गए थे पांडेय 

आर के पांडेय पूर्व में 50000 की रिश्वत लेते पकड़े जा चुके हैं। एनके पांडे के निवास पर भोपाल में और आर के पांडे के निवास पर सागर में एक साथ कार्रवाई की गयी।

दो दिन में दूसरी कार्रवाई

इससे पहले मंगलवार को लोकायुक्त की टीम ने सिंचाई विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुनील व्यास के घर और दफ्तर पर छापा मारा था। व्यास के भोपाल में 3 और सीधी में एक घर पर कार्रवाई की गयी थी। उनके भोपाल स्थित गुलमोहर, सहयोग बिहार और अरेरा कॉलोनी के घरों के साथ उनके बेटे के गोविंदपुरा स्थित ऑफिस में भी छापा मारा गया था। भोपाल के अलावा लोकायुक्त की टीम ने सीधी में उनके घर और सरकारी ऑफिस में भी छापेमार कार्रवाई की थी। छापे में करोड़ों की बेनामी संपत्ति, प्रॉपर्टी के दस्तावेज, बैंक अकाउंट और लॉकर्स की जानकारी मिली।