34% बिहार में बाढ़, लाखों लोग संकट में, चारों तरफ पानी ही पानी | BIHAR WEATHER REPORT

नई दिल्ली। बिहार के 13 जिलों में बाढ़ के पानी में लाखों लोग घिरे हुए हैं। सोमवार को 31 लोगों की डूबने से मौत हो गई। लोगों का ऊंचे स्थानों पर पलायन जारी है। सीतामढ़ी में नदियों का कहर लगातार जारी है। कई गांवों का सड़क संपर्क प्रखंड मुख्यालय से भंग है। 

मोतिहारी की सभी नदियां उफान पर हैं। कोसी मुख्य नहर सोमवार को दो जगह टूट गई। दरभंगा में कमला नदी का तटबंध टूटने के बाद सोमवार को जिले के नए हिस्सों को भी बाढ़ के पानी ने अपनी चपेट में ले लिया।

शिवहर, पूर्वी चंपारण और पड़ोसी देश नेपाल से सड़क संपर्क भंग हैं। शहर में पानी घुस गया है। लोग हाईवे, प्रमुख सड़क, स्कूल और रेलवे पटरी पर तंबू लगा कर रह रहे हैं। सैकड़ों की आबादी बाढ़ के पानी में घिरी हुई है। NDRF और SDRF की टीम लोगों को सुरक्षित निकाल ऊंचे स्थान पर पहुंचाने में लगी है।

सीतामढ़ी-रक्सौल रेलखंड पर चैनपुर के पास धंसे पटरी को ठीक कर लिया गया है। मुजफ्फरपुर में बागमती नदी के जलस्तर में तीन से चार फीट की कमी आने से औराई व कटरा प्रखंड में बाढ़ की स्थिति में सुधार आया है।

हरियाणा में भी आफत
मानसून की बारिश के कारण हरियाणा में अंबाला, कुरुक्षेत्र, सोनीपत, झज्जर, करनाल और यमुनानगर जिलों में जनजीवन बेहाल है। सिरसा, जींद, पानीपत, चरखी दादरी सहित अन्य जिलों में भी बारिश हुई है।

पंजाब में तेज बारिश के आसार
अगले चार दिन पंजाब में भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग चंडीगढ़ ने सूबे के 16 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है। फिरोजपुर, फाजिल्का, फरीदकोट, मोगा, मुक्तसर व बठिडा को छोड़ बाकी सभी जिलों में जोरदार बारिश हो सकती है।

हाल अन्य राज्यों का
मप्र के 34 जिलों में अगले 24 घंटे मौसम शुष्क बना रहेगा। 18 जिलों में मंगलवार को गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। जम्मू- श्रीनगर में हल्की से तेज बारिश होगी। झारखंड के ज्यादातर जिलों में सोमवार को धूप खिली रही। ज्यादातर जिलों में अगले चार दिनों तक मध्यम बारिश हो सकती है।