Loading...

मप्र के 32 जिलों में बिजली गिरने की चेतावनी, संडे को 8 मौतें | MP WEATHER FORECAST

भोपाल। मौसम विभाग ने राज्य में अगले चौबीस घंटों के दौरान गरज चमक के बीच कई स्थानों पर बिजली गिरने की चेतावनी जारी की गई है। प्रदेश में रविवार को शाम और रात को हल्की बारिश के दौरान बिजली गिरने से 7 लोगों की मौत हो चुकी है और 8 व्यक्ति घायल हुए हैं।

बिजली गिरने से मरने वालों में रतलाम जिले में 3 तथा उज्जैन, झाबुआ, मुरैना और श्योपुर में एक एक व्यक्ति की मौत हुई है। शिवपुरी जिले के सिरसोद थाना क्षेत्र के ग्राम टिकबेहट में वर्षा के दौरान पेड़ के नीचे खड़े एक ही परिवार के आठ लोग घायल हुए हैं। बिजली गिरने से हुई मौतों और घायलों को ध्यान में रखते हुए सोमवार को मौसम विज्ञान भोपाल केंद्र ने चेतावनी जारी की है कि अगले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के करीब 32 जिलों में गरज चमक के दौरान बिजली गिर सकती है।

इन जिलों में गिर सकती है बिजली 

मौसम विभाग के अनुसार, जिलों में इंदौर, धार, खंडवा, खरगोन, अलीराजपुर, झाबुआ, बड़वानी, बुरहानपुर, होशंगाबाद, बैतूल, हरदा, जबलपुर, मंडला, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, कटनी, छिंदवाड़ा, उज्जैन, नीमच, रतलाम, शाजापुर, देवास, मंदसौर, आगर, श्योपुरकलां, मुरैना, भिंड, अनूपपुर, शहड़ोल एवं डिंडाेरी शामिल हैं।

बिजली गिरने के पुर्वानुमान के संदर्भ में प्रादेशिक मौसम केंद्र नागपुर के उप महानिदेशक एमएल साहू ने बताया कि आईआईटीएम पुणे ने हाल ही एक नया उपकरण बनाया है, जो गरज चमक की स्थिति बनने पर बिजली गिरने की संभावनाओं की जानकारी देता है। मौसम विभाग में इसका उपयोग जून महीने से होने लगा है। 

गरज-चमक की स्थिति में गिरती है बिजली 

एमएल साहू ने स्पष्ट किया कि बारिश के मौसम में बिजली तभी गिरती है जब गरज चमक की स्थिति बनती है । उन्होंने कहा कि मौसम विभाग जनहित में गरज चमक के दौरान बिजली गिरने की संभावना की चेतावनी जारी करने लगा है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में पुर्वानुमान के अनुसार प्रदेश में गरज चमक के दौरान जिन जिलों के बारे में बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है, वहां जरुरी नहीं है कि सभी जगह बिजली गिरे, लेकिन कहीं कहीं गिर भी सकती है।

ऐेसी स्थिति में क्या करें 

विभाग ने गरज चमक के दौरान वज्रपात होने की स्थिति में लोगों को सलाह दी है।
ऐसे हालातों में लोग पेड़ों के नीचे खड़े ना हो।
विद्युत उपकरणों का उपयोग ना करें।
धातु से बने उपकरण अपने साथ ना रखें।
किसी सुरक्षित भवन में आश्रय ले।