Loading...

हरे रंग के ढीले कपड़े पहनें, दिन में खिड़की-दरवाजे बंद रखें | MP NEWS

भोपाल। भीषण गर्मी से बचने स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से पर्याप्त सावधानी बरतने की अपील की है। लू-तापघात से बचाव को लेकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.प्रभाकर तिवारी जारी एडवाजयरी में कहा है कि हमेशा सफेद या हल्के रंग के ढीले कपड़ों का प्रयोग करें। बिना भोजन किए बाहर ना निकले। गर्मी में गर्दन के पीछे का भाग कान व सिर को गमछे या तौलिए से ढककर ही धूप में निकलें। बता दें कि मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है। यानी दिन के समय घर से बाहर निकलने की मनाही है। 

ऐसे मौसम में क्या खाएं

आईडीएसपी के माध्यम से जारी एडवायजरी में कहा कि गर्मी में पानी अत्यधिक मात्रा में पीना चाहिए। शीतल पेय पदार्थों का अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। फल तथा सब्जी जिसमें पानी की मात्रा अधिक हो जैसे तरबूज, खरबूज, खीरा, अनानास, संतरा, अंगूर आदि का अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। सीधी धूप से बचे तथा घर के अंदर हवादार, ठंडे स्थान पर रहे। अत्यधिक शारीरिक श्रम वाली गतिविधियां दिन के अधिकतम तापमान वाले घंटों में ना करें। बहुत भीड़ गर्म घुटन भरें कमरों रेल बस आदि की यात्रा अत्यावश्यक होने पर ही करें। 

सभी ब्लाक मेडिकल आफिसर को निर्देशित किया गया यहै कि वे रैपिड रिस्पासं टीम/ब्लाक काम्बेट टीम को तैयार रखें। अन्य विभागों से समन्वय रखें जैसे कि आपदा प्रबंधन समिति, मौसम विभाग, जिला प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी विभाग एवं लोक निर्माण विभाग। जिलों तापमान बढ़ने पर निगाह रखने और समय-समय पर अलर्ट जारी करने के निर्देश दिए गए हैं। ग्राम स्तर पर आयोजित विभागीय बैठकों में आम लोगों को लू-तापघात के बचाव के संबंध में जागरूक करने के दिशा निर्देश दिए गए हैं। 

यदि किसी को लू लग जाए तो क्या करें

यदि कोई व्यक्ति लू-तापघात से प्रभावित होता है तो उसका तत्काल प्राथमिक उपचार -रोगी को तुरंत छायादार जगह पर कपडे़ ढीले कर लिटा दें और हवा करें। रोगी को होश में आने की दशा में प्याज का रस अथवा जौ का आटा भी ताप नियंत्रण हेतु मला जा सकता है। रोगी के शरीर का ताप कम करने के लिए यदि संभव हो तो उसे ठण्डे पानी से स्नान कराएं या उसके शरीर पर ठंण्डे पानी की पट्टिया रखकर पूरे शरीर को ढंके।