Loading...

पेयजल संकट: कोलार में चक्काजाम, 2 घंटे तक बंद रहा यातायात | BHOPAL NEWS

भोपाल। लंबे समय से पेयजल की समस्या से परेशान कोलारवासियों ने चक्काजाम कर दिया। अघोषित चक्काजाम से दोनों और करीब चार किलोमीटर तक वाहन फंसे रहे। चक्काजाम की सूचना के बाद पहुंचे प्रशासन की समझाइश के बाद लोगों ने चक्काजाम समाप्त किया। 

जानकारी के अनुसार भीषण गर्मी में कोलार की करीब तीन लाख आबादी पेयजल की समस्या से परेशान है। कई बार प्रशासन और नगर निगम से गुहार लगाने के बाद भी जब पानी की समस्या का हल नहीं हुआ तो सोमवार को कोलारवासियों का गुस्सा फूट पड़ा और वो सड़क पर उतर आए और जाम लगा दिया। जाम लगने की सूचना के बाद प्रशासन और नगर निगम के अधिकारी मौके पर पहुंचे और टैंकर से पेयजल उप्लब्ध कराने का आश्वासन के बाद जाम खुलवाया। कोलार की मुख्य सड़क पर अचानाक हुए जाम के चलते दोनों और करीब चरा किलोमीटर वाहनों की लंबी कतारें लग गई। ऑफिस टाइम में अचानक चक्काजाम होने से हजारों लोग करीब दो घंटे तक जाम में फंसे रहे।

भोपाल में जल वितरण का मैनेजमेंट सहीं नहीं है: विधायक रामेश्वर शर्मा

स्थानीय विधायक रामेश्वर शर्मा ने सरकार और नगर निगम पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कोलार सहित पूरा शहर इस समय गंभीर पेयजल की समस्या से जूझ रहा है। नगर निगम के पास पैसे की कमी है तो प्रशासन के अधिकारियों के पास सूझबूझ की। शहर में नर्मदा, बड़े तालाब, कोलार सहित कई स्रोतों से पानी स्पालाई किया जा रहा है। इसके बाद भी शहर की करीब 25 फीसदी आबादी पेयजल को लेकर परेशान हैं। उन्होंने कहा भोपाल में जल वितरण का मैनेजमेंट सहीं नहीं है। इसलिए पर्याप्त पानी होने के बाद भी जनता परेशान है।