Loading...

SHIKSHAK SAMVARG के नए कैडर में वेतन भुगतान हेतु आवंटन जारी, पढ़िए अब क्या होगा

मंडला। आजाद अध्यापक संघ जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि जनजाति कार्य विभाग (TRIBAL AFFAIR DEPARTMENT) ने शिक्षक संवर्ग के नए कैडर (NEW CADRE TEACHERS) के वेतन भुगतान (SALARY PAYMENT) हेतु पर्याप्त आवंटन उपलब्ध करा दिया है। अध्यापक संवर्ग के शिक्षक संवर्ग में संविलियन के पश्चात वेतन भुगतान हेतु पुराने आवंटन को समाप्त कर सरकार ने नए एवं नियमित कैडर में अध्यापकों के वेतन भुगतान की व्यवस्था बनाई है। 

जिन शिक्षकों के ट्रेजरी एम्पलाई कोड जारी हो गए हैं उनके वेतन बिल बनाने में कुछ डी.डीओ को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया की प्रत्येक डीडीओ को अपने विकासखंड के कर्मचारियों के लिए ट्रेजरी से हैरारकी बनवानी पड़ेगी, हैरारकी बनने के बाद प्रत्येक डीडीओ प्रत्येक कर्मचारी के ट्रेजरी एम्पलाई कोड का पासवर्ड जनरेट कर उनके पर्सनल  डिटेल में सुधार कार्य कर सकता है। कुछ शिक्षकों के बैंक खाता नंबर एवं मूल वेतन में गड़बड़ी होने के कारण बिल लगाने में परेशानी होगी। 

जिन अध्यापको के खाते पंजाब नेशनल बैंक एवं सेन्ट्रल ग्रामीण बैंक में हैं उनके खाता नम्बर 16 अंको के होने के कारण दिक्कत हो रही है जिसमें  सुधार कार्य ट्रेजरी से ही होगा। अध्यापकों के नियमित केडर में वेतन के लिए अध्यापकों के एचआरए परियोजना भत्ता एवं जीआईएस की भी फीडिंग की जाएगी नये कैडर में एनपीएस की राशि कटौती सीधे ट्रेजरी से ही होने लगेगी ,उसके लिए ट्रेजरी से मूल वेतन एवं डीए का मिलान कर अध्यापक संवर्ग के वेतन  बिल लगाए जा सकते हैं। कुछ ट्रांसफर वाले अध्यापकों के जो जनजाति कार्य विभाग से जनजाति कार्य विभाग में स्थानांतरित हुए हैं उनके ट्रेजरी एम्पलाई कोड उसी डीडीओ से जारी होंगे जहां से उनका सत्यापन कार्य हुआ है। उनके एम्पलाई कोड ट्रांसफर की रिक्वेस्ट डालने के बाद ,यहां से उनका वेतन बिल लग सकता है। किसी का भी वेतन ब्रेक कर बिल लगा देने पर संबंधित अध्यापकों को 1 माह और इंतजार करना पड़ सकता है। संबंधित डीडीओ शीघ्र भुगतान करने की कार्यवाही करें।

जिनके एम्पलाई कोड जारी नहीं हुए उनको नहीं मिलेगा वेतन

आजाद अध्यापक संघ जिलाध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि जिन अध्यापकों के एम्पलाई कोड जारी होगा उनके वेतन बिल तो लग जाएंगे किंतु जिनके एम्पलाई कोड जारी नहीं हुए हैं उनके बिल लगाना संभव नहीं है क्योंकि नए कैडर में वेतन व्यवस्था में अध्यापकों के वेतन हेतु उन्हें ट्रेजरी एम्पलाई कोड जारी किया गया है ,एम्पलाई कोड जनजाति कार्य विभाग भोपाल से जारी होना है डी डी ओ ने दिन रात मेहनत करके एम्पलाई कोड के लिए फीडिंग का कार्य पूर्ण कर लिया है और कार्य पूर्णता का उपयोगिता प्रमाणपत्र भी दे दिया है, आगे की कार्यवाही जनजाति कार्य विभाग भोपाल से किया जाना है लेकिन एम्पलाई कोड जारी नही किया जा रहा है ज्ञात हो कि पुरानी व्यवस्था में वेतन आवंटन को समाप्त कर दिया गया है जिसके कारण अध्यापकों को विगत 2 माह से वेतन अप्राप्त है। संघ ने शीघ्र एम्पलाई कोड जारी कर वेतन भुगतान की मांग की है। एम्पलाई कोड जारी नहीं होने की दशा में संघ आंदोलन के लिए बाध्य होगा।