Loading...

INDORE NEWS: शिवराज सिंह चौहान, नेमीचंद के परिवार से मिले, कांग्रेस पर निशाना साधा

इंदौर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को इंदौर पहुंचकर अरविंदो हॉस्पिटल में भर्ती भाजपा कार्यकर्ता स्व. नेमीचंद तंवर के परिजनों से मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने पार्टी फंड से स्व. नेमीचंद तंवर के परिवार को 5 लाख की राहत राशि देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी कार्यकाल में गुंडागर्दी चरम पर है और लगातार भाजपा के कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया जा रहा है। 

इंदौर लोकसभा चुनाव में मतदान के दौरान रविवार को भारतीय जनता पार्टी को वोट देने पर 65 वर्षीय स्व. नेमीचंद तंवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या के पहले दोपहर में मृतक स्व. नेमीचंद के बेटे राहुल तंवर का कांग्रेसियों से विवाद हुआ था। विवाद के बाद श्री नेमीचंद को गोली मार दी गई, वहीं घटना में उनकी पत्नी और पुत्र घायल हो गए। सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने हमले में घायल स्व. नेमीचंद तंवर की पत्नी एवं बेटे बसंत से अरविंदो हॉस्पिटल पहुंचकर मुलाकात की। श्री चौहान के साथ महापौर श्रीमती मालिनी गौड, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री सुदर्शन गुप्ता, श्री जीतू जिराती, लोकसभा प्रत्याशी श्री शंकर लालवानी, विधायक श्री रमेश मेंदोला, पूर्व विधायक श्री राजेश सोनकर आदि उपस्थित थे। 

पूर्व मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस घटना को दुखद बताते हुए कहा कि मध्यप्रदेश शांति का टापू रहा है। कभी भी ऐसी घटनाएं नहीं घटी कि किसी पार्टी को वोट देने पर गोली मार दी जाए। यह पहली बार हुआ है। उन्होंने कहा कि आमतौर पर चुनाव होते हैं तो राजनीतिक प्रतिद्वंदिता होती है, लेकिन दुश्मनी नहीं होती। 5 माह पूर्व आई कमलनाथ सरकार के आने के बाद शांति के टापू को अराजक राज्य के रूप में बदला जा रहा है। मध्यप्रदेश का इतिहास रहा है कि चुनाव के दौरान ऐसी हिंसक घटनाएं नहीं हुई। रविवार को हुई घटना बड़ी ही भयावह है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में हर किसी को स्वतंत्र रूप से मत देने का अधिकार होता है। इस तरह से गोली नहीं मारी जाती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लोगों ने श्री तंवर द्वारा भाजपा को वोट दिए जाने पर उनके साथ मारपीट की, उन्हें धमकी दी और शाम 5 बजे बाद उन्हें गोली मार दी जाती है। घटना के दौरान उनकी पत्नी और उनके बच्चे भी घायल हुए हैं। श्री चौहान ने मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ से पूछा कि मध्यप्रदेश को कहा ले जाना चाहते हैं। जबसे कांग्रेस की सरकार आई है राजनीतिक बदले की भावना से भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को टारगेट किया जा रहा है। चुनाव में डराया, धमकाया जा रहा है। सांवेर क्षेत्र में एक दर्जन से अधिक स्थानों पर मंत्री के समर्थकों द्वारा भाजपा कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित किया गया।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ और मंत्री तुलसी सिलावट समझ लें कि हम मध्यप्रदेश को बंगाल नहीं बनने देंगे। गुंडातंत्र को हावी करके क्या लोकतंत्र की हत्या करेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने यह निर्देश दिए थे कि मंत्री के क्षेत्र से और कोई हारे तो इस्तीफा लेकर आना और इसलिए मंत्री डराने और धमकाने काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के इस कृत्य को भारतीय जनता पार्टी कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। श्री चौहान ने कहा कि हम पीड़ित परिवार के साथ खड़े हैं। गुंडागर्दी के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी सड़क पर उतरकर संघर्ष करेगी। उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मांग की कि अपराधी कोई भी हो उसे तत्काल गिरफ्तार किया जाए और दोषियों को कड़ी सजा दी जाए। उन्होंने कहा कि राजनीतिक संरक्षण देने के प्रयास हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। अगर हमें न्याय नहीं मिला तो हम कड़ा संघर्ष करेंगे। 

चुनाव के चलते हथियार कहां से आए
श्री चौहान ने कमलनाथ सरकार से पूछा है कि चुनाव के दौरान सभी लायसेंसी हथियार जमा करा लिए जाते हैं, ऐसी स्थिति में श्री तंवर को गोली मारने के लिए हथियार कहा से आए? क्या, मध्यप्रदेश में अवैध हथियारों की पहुंच अपराधियों तक बेखौफ हो रही है। इसकी भी जांच कराने की आवश्यकता है।