Loading...

10वीं-12वीं: मार्कशीट कब तक मिलेगी, री-टोटलिंग की लास्ट डेट क्या है, यहां पढ़ें | EDUCATION NEWS

भोपाल। एमपी बोर्ड की हाईस्कूल व हायर सेकंडरी परीक्षा में शामिल हुए छात्रों को अंक सूची का वितरण जून में होगा। जिन छात्रों की अंक सूची में किसी भी तरह के करेक्शन होंगे, वे सुधार के लिए तीन महीने के अंदर आवेदन कर सकेंगे। इस अवधि में आवेदन आने पर बोर्ड करेक्शन फ्री करेगा। इसके बाद छात्रों को बोर्ड द्वारा तय फीस का भुगतान करना होगा। 

जानकारी के अनुसार अंक सूची अगले 20 दिन में स्कूलों में आ जाएंगी। जहां से छात्रों को वितरण होगा। अंक सूची में दस्तावेज के आधार पर करेक्शन तीन महीने तक फ्री होंगे। जन्म तिथि व फोटो आदि के करेक्शन फीस देकर भी अधिकतम तीन साल तक कराए जा सकते हैं। इसके बाद बोर्ड ऐसे करेक्शन नहीं करेगा। 

कॉपी देखने आवेदन के साथ देने होंगे150 रुपए 

ऐसे छात्र, जिन्हें ज्यादा नंबर मिलने की उम्मीद थी और मिले कम थे, वे 100 रुपए फीस के साथ एमपी ऑनलाइन कियोस्क पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। ऐसे ही जो छात्र कॉपी देखना चाहते हैं, वे भी ऐसे ही आवेदन करेंगे। इसके लिए हर छात्र को 150 रुपए का भुगतान ऑनलाइन करना होगा। फीस का भुगतान डेबिट, क्रेडिट या फिर नेट बैंकिंग से भी किया जा सकता है। 

पूरक परीक्षा के फार्म भरने की प्रक्रिया प्रारंभ 

दोनों परीक्षाओं के ऐसे छात्र, जिन्हें पूरक की पात्रता है, वे परीक्षा प्रारंभ होने के एक दिन पहले रात तक ऑनलाइन फार्म भर सकते हैं। इसके लिए मुख्य परीक्षा का रोल नंबर व परीक्षा फल संबंधी जानकारी लेकर छात्र को एमपी ऑनलाइन कियोस्क पर जाना होगा। हायर सेकंडरी पूरक परीक्षा 3 तथा हाईस्कूल पूरक परीक्षा 4 जुलाई से होनी है। उल्लेखनीय है कि जिले के 4 हजार 600 छात्रों को पूरक की पात्रता है। पूरक परीक्षा के एडमिट कार्ड 15 जून से डाउनलोड किए जा सकेंगे। 

बेस्ट फाइव छात्रों के लिए भी एक ऑप्शन

बेस्ट फाइव योजना के तहत पास हुए हाईस्कूल छात्र, जिस एक विषय में फेल हुए हैं, वे उसके लिए पूरक परीक्षा का फार्म भर सकते हैं। यह परीक्षा 4 से 12 जुलाई के बीच अन्य छात्रों के साथ ही देनी होगी पर आवेदन 4 जून तक जमा होंगे। जो छात्र री-टोटलिंग के लिए आवेदन करेंगे, उन्हें पूरक परीक्षा में आवेदन करने की छूट अन्य की तरह ही मिलेगी। पूरक परीक्षा की फीस बोर्ड ने तय कर दी है।यह एक विषय में 350 रुपए व कियोस्क फीस 25 रुपए रहेगी।