Loading...

BHOPAL में अब हर घर का होगा QR CODE, स्कैन करते ही सबकुछ पता चल जाएगा

भोपाल। चार इमली के सरकारी बंगलों पर इन दिनों एक कॉपर की नंबर प्लेट लगाई जा रही है। इस नंबर प्लेट पर एक क्यूआर कोड भी बना हुआ है। यह कॉपर की नंबर प्लेट एक तरह का डिजिटल स्मार्ट एड्रेस है।

चार इमली में नंबर प्लेट लगाने का काम अंतिम चरण में है, जबकि शहर के अन्य इलाकों में अभी सर्वे करने के साथ मैप तैयार करने और मैन रोड, स्ट्रीट और एवेन्यू के डिजिटाइजेशन का काम चल रहा है। इस डिजिटाइजेशन के बाद मकान को नंबर दिया जा रह है। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद कॉपर की प्लेट लगाई जा रही है। अभी चार इमली क्षेत्र में यह काम पूरा हो गया है। इसके बाद शिवाजी नगर, 74 बंगला क्षेत्र और फिर अरेरा कॉलोनी और होशंगाबाद रोड पर नंबर प्लेट लगाई जाएंगी। इस साल के अंत तक भोपाल देश का पहला ऐसा शहर हो जाएगा, जहां हर मकान का एक ई एड्रेस होगा। आंध्रप्रदेश व तेलंगाना के कुछ शहरों की कॉलोनियों में इसका प्रयोग किया है।

केवल आपके एड्रेस की जानकारी... 

क्यूआर कोड को स्कैन करके केवल आपके एड्रेस की जानकारी ही मिलेगी। यानि मकान में निवास करने वाले व्यक्ति का नाम या संबंधित प्रॉपर्टी के बारे में कोई अन्य जानकारी इसके जरिए नहीं मिलेगी।

जीआईएस सर्वे के डेटा का उपयोग

स्मार्ट सिटी कंपनी के अफसर बताते हैं कि संपत्तिकर वसूली के लिए नगर निगम के लिए किए गए जीआईएस सर्वे के डेटा का उपयोग डिजिटल एड्रेस जनरेट करने के लिए किया जा रहा है। निगम के जोनल कार्यालय और वार्ड कार्यालय के अमले के साथ सर्वे करके हर मकान में रहवासी के बारे में जानकारी ली जा रही है।