प्रज्ञा ठाकुर ने सरकारी 'मतदाता जागरूकता मंच' के नाम से फर्जी पर्चे बंटवाए: शिकायत | BHOPAL ELECTION NEWS

भोपाल। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भोपाल सीट से भाजपा प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के खिलाफ चुनाव आयोग में एक और शिकायत हुई है। आरोप है कि उन्होंने 'मतदाता जागरूकता मंच' के नाम से पर्चे छपवाए जिस पर उन्होंने भाजपा को वोट देने की अपील की जबकि 'मतदाता जागरूकता मंच' चुनाव आयोग के आधिकारिक अभियान का नाम है। 

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी विधि और मानव अधिकार विभाग के अध्यक्ष राजेन्द्र बब्बर ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को शिकायत की है कि चुनाव आयोग द्वारा शुरू किये गये मतदाता जागरूकता मंच के नाम से भाजपा की प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के पक्ष में पेम्पलेट प्रकाशित कर जनता में वितरित किये जा रहे हैं। इसमें प्रकाशक के तौर पर बकायदा मतदाता जागरूकता मंच भोपाल का नाम अंकित है। शिकायत में आचार संहिता के उल्लंघन के कारण प्रज्ञासिंह ठाकुर का नामांकन तत्काल प्रभाव से निरस्त किये जाने का आग्रह चुनाव आयोग से किया है। शिकायत में भारत सरकार के प्रेस इन्फरमेशन ब्यूरो द्वारा जारी और जिला और सत्र न्यायालय परिसर भोपाल में वितरित मतदाता जागरूकता मंच की ओर प्रकाशित पेम्पलेट की प्रति भी संलग्न की गयी है। 

शिकायत में लिखा गया है कि केंद्रीय चुनाव आयोग द्वारा प्रारंभ मतदाता जागरूकता मंच की आड़ में भोपाल लोकसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञासिंह ठाकुर के पक्ष में प्रचार के लिये बांटी जा रही इस प्रकाशन सामग्री में असत्य और भ्रामक तथ्य प्रस्तुत कर मतदाताओं को गुमराह और प्रभावित किया जा रहा है। यह कृत्य धोखाधड़ी होने के साथ-साथ आदर्श चुनाव आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन भी है। यह आपराधिक कृत्य की श्रेणी में भी आता है।

श्री बब्बर ने आयोग से इस कृत्य की पुलिस प्रशासन से जांच कराने और आचार संहिता के उल्लंघन के कारण प्रज्ञासिंह ठाकुर का नामांकन तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाकर दोषियों के विरूद्व तत्काल कानूनी कार्यवाही का आग्रह किया है। शिकायतकर्ताओं में राजेन्द्र बब्बर कके अलावा राकेश गोहिल, मोहम्मद लईक, महेश साहू, सी.एम. राठौर, संजय कुमार दुबे, आकाश तेलंग, मयूरचालीसगांवकर, मयूरमानधान्या सहित अन्य अधिवक्ता उपस्थित थे।