ANGANWADI KARYAKARTA: पीएम नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी, फिर भी मानदेय नहीं बढ़ा

नीमच। गोपालदास बैरागी ने बताया की विगत माह सितम्बर 2018 में देश के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी द्वारा महिला एंव बाल विकास परियोजनान्तर्गत कार्यरत व शासन की योजनाओं को घर घर पहुंचने वाली, व देश का सबसे अहम अमला आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ को केंद्र सरकार द्वारा मिल रहे मानदेय या मानधन में 3 हजार के स्थान पर 4 हजार 500 रु किये गए साथ ही जिनका मानदेय 2250 रु था, उनका मानदेय बढ़ाते हुए 3500 रु केंद्र सरकार की तरफ से दिए जाने की घोषणा की गयी थी। 

वहीँ आंगनवाड़ी सहायिकाओं को केंद्र सरकार की तरफ से 1500 रु मिल रहे थे, उसे बढ़ाते हुए अब 2250 रु मिलेंगे। इतना ही नही पोषण अभियान के तहत 250 रु से 500 रु तक अतिरिक्त राशि भी प्रदान की जायेगी। जो कार्यकर्ता के उत्तम प्रदर्शन पर प्रोत्साहन के रूप में मिलेगा। यह बड़ा हुआ मानदेय या मानधन विगत 1 अक्टूबर 2018 से लागु होकर विगत दीपावली पर्व पर ही सभी को बढे हुए मानदेय के रूप में खाते में देने सहित दीपावली तोहफे की बात देश की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा से बातचीत के दौरान सार्वजनिक मंच से कहि थी। 

पर ज्ञात हो की आज नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमन्त्री पद पर शपथ ले रहे है और उनकी की गयी घोषणा को लगभग 8 माह पूर्ण होने जा रहे है पर विडम्बना है की मध्य प्रदेश के नीमच जिले में तो आज दिवस तक केंद्र सरकार द्वारा बड़ाई गयी मानदेय राशि 8 माह होने के उपरांत भी प्रदान नही की गयी है। क्षेत्रीय सांसद, सम्बंधित विभाग मानदेय सम्बंधित घोषणा पर समीक्षा करते हुए जिले की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाओं को उनका हक प्रदान करे।